Retired army sentenced to life for killing a Dalit women - दलित महिला की हत्या में रिटायर्ड फौजी को उम्रकैद DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दलित महिला की हत्या में रिटायर्ड फौजी को उम्रकैद 

बीकापुर कोतवाली क्षेत्र में 10 साल पहले दलित महिला उर्मिला कोरी की हत्या कर शव को कुएं में फेंकने में आरोपित सेवानिवृत्त फौजी भगौती प्रसाद तिवारी को आजीवन कारावास की सजा से दंडित किया गया है। 
यह फैसला विशेष न्यायाधीश (एससी/एसटी एक्ट) हरीनाथ पांडे ने सुनाया। इसके बाद आरोपी को कड़ी सुरक्षा के बीच जेल भेजने का आदेश दिया। घटना बीकापुर कोतवाली अंतर्गत देवकली खिदिरपुर गांव की है।  सरकारी वकील रोहित पांडे के मुताबिक 21 अक्टूबर 2010 को दोपहर 3.30 बजे जोखू राम कोरी की पत्नी उर्मिला गांव के रिटायर फौजी भगौती प्रसाद तिवारी के घर गई थी। उसके साथ उसका छह वर्ष का पुत्र शुभम भी गया था। लड़के को देखकर फौजी ने उसे बिस्कुट खाने के लिए  10 रुपए देकर घर भेज दिया। देर रात तक जोखू पत्नी के घर न लौटने पर भगौती प्रसाद के यहां गया। पूछने पर भगौती ने बताया कि तुम्हारी पत्नी चली गई थी। तब से वह अपनी पत्नी को इधर-उधर तलाशता रहा। दूसरे दिन उसे पता चला कि एक लाश मंगारी स्कूल के समीप जगन्नाथ सिंह के बाग पर स्थित बोरे से बंधी हुई मिली है। बोरे को बाहर निकाला गया। जोखू ने लाश को देखकर पहचाना कि उसकी पत्नी उर्मिला है। बताया जाता है कि उर्मिला की हत्या कर शव को छिपाने के उद्देश्य से बोरे में भरकर कुएं में फेंक दिया गया था। मृतका के पति की तहरीर पर हत्या का यह मुकदमा बीकापुर कोतवाली में दर्ज हुआ।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Retired army sentenced to life for killing a Dalit women