अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीएम योगी ने उत्तराखंड के पूर्व सीएम निशंक की पुस्तक का किया विमोचन

राज्य मुख्यालय। विशेष संवाददाता

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तराखंड राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री व सांसद रमेश पोखरियाल ‘निशंक की पुस्तक ‘केदारनाथ आपदा की सच्ची कहानियां के भोजपुरी अनुवाद का गुरुवार को लखनऊ में अपने कार्यालय में विमोचन किया। यह पुस्तक वर्ष 2013 में उत्तराखंड के केदारनाथ धाम में आई आपदा की सच्ची घटनाओं पर आधारित है। पुस्तक का भोजपुरी अनुवाद प्रो. एएन वर्मा द्वारा किया गया है।

मुख्यमंत्री द्वारा इस अवसर पर डा. निशंक को ‘साहित्य गौरव सम्मान से विभूषित किया गया। डा. निशंक को यह सम्मान मुक्ति मिशन, वाराणसी द्वारा प्रदान किया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि केदारनाथ की त्रासदी ने यह दिखाया कि प्रकृति के साथ खिलवाड़ करने पर उसका रौद्र रूप देखना पड़ सकता है। इस घटना से मानव को प्रकृति के साथ तादात्म्य बना कर रखने की सीख लेनी चाहिए। केदारनाथ की घटना पर आधारित सच्ची कहानियों की रचनात्मक प्रस्तुति के लिए डा. निशंक की सराहना की। कहा कि यह पुस्तक केदारनाथ और भोजपुरी से संबंधित है। केदारनाथ धाम मेरी जन्मभूमि से तथा भोजपुरी भाषा मेरी कर्मभूमि से जुड़ी हुई है। यह पुस्तक मेरी जन्मभूमि और कर्मभूमि को जोड़ती है।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि लेखन व्यक्ति की रचनात्मकता को प्रदर्शित करता है। लेखन से व्यक्ति की रचनाधर्मिता सामने आती है। इस मामले में डा. निशंक अत्यन्त समृद्ध हैं। डा. रमेश पोखरियाल ‘निशंक ने कहा कि यह पुस्तक केदारनाथ में उनकी आंखों-देखी ऐसी घटनाओं पर आधारित है, जिन्होंने उन्हें लम्बे समय तक विचलित रखा। ऐसी अनेक घटनाएं देखी, जब अपनो को खो चुके लोग दूसरों को बचाने के लिए अपने प्राण दांव पर लगा रहे थे। इस अवसर पर सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह, सांसद राजेन्द्र अग्रवाल, प्रहलाद पटेल आदि उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Release book of Nishank