DA Image
14 अगस्त, 2020|5:27|IST

अगली स्टोरी

पहले दिन 648 यात्रियों ने किया सफर

ऐशबाग-सीतापुर के बीच छोटी लाइन बड़ी होने के बाद बुधवार को पहली स्पेशल ट्रेन 05063 सीतापुर जंक्शन से लखनऊ जंक्शन के लिए रवाना हुई। रेलवे एसीएम प्रथम एमपी सिंह ने बताया कि ट्रेन से कुल 648 यात्रियों ने पहले दिन सफर किया। रेलवे को इससे 9475 रुपये का राजस्व भी मिला। रेलवे अधिकारियों ने बताया कि सबसे ज्यादा 3750 रुपये के 150 टिकट सीतापुर से खरीदे गए। जबकि, खैराबाद से 1700 रुपये के 111 टिकट, कमलापुर से 520 रुपये के 60, सिधौली से 1315 रुपये के 111, इटौंजा से 800 रुपये के 80, अटरिया से 420 रुपये के 42 और बीकेटी से 970 रुपये के 94 टिकट बिके। एमपी सिंह ने बताया कि ट्रेन में दो एसएलआर मिलाकर कुल 13 कोच सीतापुर से रवाना हुए। जबकि, उद्घाटन ट्रेन से सफर का मजा लेने के लिए दर्जनों यात्रियों ने बेटिकट सफर किया।

--------------

क्रॉसिंग गेट पर लगा रहा जमावड़ा

खैराबाद से बीकेटी के बीच ब्रॉडगेज पर पहली ट्रेन रवाना होने के बाद क्रॉसिंग गेटों पर एक बार फिर लोगों की भीड़ रुकने लगी। रास्ते भर दर्जनों क्रॉसिंग गेट बंद मिले और लोगों की भीड़ क्रॉसिंग गेट खुलने का इंतजार करती दिखी। हालांकि, ऐशबाग-सीतापुर के बीच ट्रेन चलने का खासा उत्साह मौके पर खड़े लोगों में देखने को मिला। क्रॉसिंग पर खड़े लोगों ने ट्रेन को हाथ हिलाते हुए विदा किया। वहीं, कुछ लोग क्रॉसिंग बंद होने के बाद जान पाए कि यहां से ट्रेन रवाना हो रही है।

सूत्रों की मानें तो ऐशबाग-सीतापुर रूट पर ट्रेन चलने के बाद से सबसे ज्यादा भीड़ क्रॉसिंग गेटों पर ही होगी। इन रूटों पर कुछ क्रॉसिंग ऐसी है जिनके बंद हो जाने से घंटों क्रॉसिंग पर जाम लग जाता है। इसमें एसआर कॉलेज के पास की भैंसामऊ क्रॉसिंग, बीकेटी पर बनी अस्ती रोड क्रॉसिंग एवं मड़ियांव और बीकेटी के बीच भिटौली क्रॉसिंग मुख्य है। इसके अलावा सीतापुर जंक्शन से ट्रेन रवाना होने के बाद पुलिस लाइन, महमूदाबाद, बिसवां और श्यामनाथ मंदिर क्रॉसिंग भी इसमें शामिल हैं।

-------------

जीएम स्पेशल को पास देने के लिए रोक दी गई 05063 स्पेशल ट्रेन

लखनऊ। अंग्रेजी हुकूमत के 133 साल पुराने मीटर गेज रेलखंड पर रेलवे ने पटरियां ही मात्र उखाड़ी हैं। अंग्रेजी हुकूमत का व्यवहार नहीं बदला है। इसका एक नजारा बुधवार को सीतापुर से लखनऊ जंक्शन के लिए रवाना हुई पहली ब्रॉडगेज 05063 स्पेशल ट्रेन के साथ देखने को मिला। जब यात्रियों से भरी ट्रेन को मोहिबुल्लापुर स्टेशन पर रोककर अधिकारियों से भरी सैलून की ट्रेन को आगे कर दिया गया। जबकि स्पेशल ट्रेन पहले से ही देरी से चल रही थी।

133 साल पुराने छोटी लाइन (मीटरगेज) रेलखंड को पूरी तरह बदलकर बड़ी लाइन (ब्रॉडगेज) में परिवर्तित कर दिया गया। बुधवार को यहां सीतापुर से लखनऊ जंक्शन के लिए पहली ब्रॉडगेज 05063 उद्घाटन स्पेशल ट्रेन रवाना हुई। उद्घाटन ट्रेन ही अपने समय से देरी से छूटी। इसके बाद खैराबाद अवध में रेल अधिकारी और रेल मंत्री ट्रेन में सवार हुए। तो यात्रियों को खुशी मिली। बीकेटी में रेलवे अधिकारी और मंत्री का काफिला सड़क मार्ग से रवाना हो गया। पूर्वोत्तर रेलवे महाप्रबंधक राजीव अग्रवाल भी वहां से सड़क मार्ग के जरिए रवाना हो गए।

इससे पहले उद्घाटन स्पेशल ट्रेन वहां से मोहिबुल्लापुर स्टेशन के लिए रवाना हो गई। इसके बाद रेलवे अधिकारियों का काफिला जीएम स्पेशल ट्रेन में सवार हो गया। रेलवे अधिकारियों ने यात्रियों के समय की परवाह न करते हुए स्पेशल ट्रेन को मोहिबुल्लापुर स्टेशन पर ही रोक दिया। यहां पर अधिकारियों से भरी जीएम स्पेशल आगे कर रवाना कर दी गई। शाम 4.10 बजे मोहिबुल्लापुर स्टेशन पहुंची ट्रेन करीब 22 मिनट इस बीच वहीं खड़ी रही और 4.32 बजे वहां से रवाना हुई। इसके चलते शाम बजे लखनऊ जंक्शन पहुंचने वाली ट्रेन 1.17 घंटे विलंब होकर शाम करीब 5.17 बजे लखनऊ जंक्शन पहुंची।

------------