DA Image
10 अप्रैल, 2021|3:21|IST

अगली स्टोरी

ऐशबाग जंक्शन पर ट्रेनें प्लेटफार्म से बाहर, यात्रियों की बढ़ी परेशानी

पूर्वोत्तर रेलवे के ऐशबाग जंक्शन पर यात्रियों को ट्रेन पकड़ने में मुश्किलें आ रही हैं। यहां से गुजरने वाली दर्जनों ट्रेनों के हिसाब से प्लेटफार्म छोटे हैं। नतीजतन, ट्रेनों के अधिकांश कोच प्लेटफार्म से बाहर खड़े हो रहे हैं। यात्रियों को ट्रेन के कोचों तक पहुंचने के लिए पटरियों पर चलकर जाना पड़ रहा है।

पूर्वोत्तर रेलवे के ऐशबाग जंक्शन पर करीब दो हफ्ते पहले दर्जनों ट्रेनें ट्रांसफर हुई हैं। यहां से 12541 गोरखपुर-लोकमान्यतिलक, 19038 अवध एक्सप्रेस, 15015 गोरखपुर-यशवंतपुर, 15101 छपरा-छत्रपति शिवाजी टर्मिनस, 15045 गोरखपुर-ओखा एक्सप्रेस, 12511 राप्तीसागर एक्सप्रेस समेत करीब 28 ट्रेनों को रोककर सीधे मानकनगर होते हुए निकला जा रहा है। इसमें से गुजरने वाली अधिकांश ट्रेनों के कोच ऐशबाग जंक्शन प्लेटफार्म पर नहीं आ रहे हैं।

इनमें ट्रेनों के पीछे लगे जनरल कोच के यात्रियों को खासी मशक्कत करनी पड़ रही है। लंबी दूरी के 24 कोच वाली ट्रेनों के कोच में दो से तीन कोच प्लेटफार्म से बाहर खड़े हो रहे हैं। इसके चलते यात्री प्लेटफार्म छोड़कर ट्रेन आने से पहले पटरी पर जाकर खड़े होने को मजबूर है।

सोमवार को भी ऐसा ही कुछ नजारा देखने को मिला जब, ऐशबाग जंक्शन पर ट्रेन 12511 राप्तीसागर पहुंची थी। ट्रेन के तीन कोच पटरी से बाहर निकल गए। इससे यात्रियों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

-----------

बिना तैयारी ट्रेनें चलाना यात्रियों के लिए बना मुसीबत

मुम्बई, त्रिवेंद्रम, यशवंतपुर, सिकंदराबाद, अर्नाकुलम, बांद्रा आदि जाने के लिए यात्री पहले लखनऊ जंक्शन से ट्रेन पकड़ते थे, लेकिन अब इन ट्रेनों का ठहराव ऐशबाग हो गया है। रेलवे ने बिना तैयारी के ऐशबाग स्टेशन पर ट्रांसफर तो कर दिया, लेकिन यात्रियों की सुविधाओं का ख्याल तक नहीं रखा। रेलवे की यही लापरवाही अब यात्रियों को भारी पड़ रही है। प्लेटफार्म छोटे होने के साथ ही यहां पर यात्रियों को कई और समस्याओं से जूझना पड़ रहा है।

-----------