DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कामकाज- निगमीकरण की कवायद के खिलाफ छह को सड़क पर उतरेंगे पीडब्ल्यूडी कर्मचारी

लोनिवि के एकजुट कर्मचारियों का 28 को प्रान्तीय धरना, उसी दिन हड़ताल की घोषणाजनपदीय भ्रमण में मिली चार टोली जिसमें अधिकारी कर्मचारी शामिललखनऊ। कार्यालय संवाददातालोक निर्माण विभाग के निगमीकरण की कवायद के चलते नाराज लोक निर्माण विभाग के सभी कर्मचारी नाराज है। कर्मचारी अधिकारी महासंघ के बैनर तले अधिकारियों व कर्मचारियों के 13 संगठनों ने एकजुट होकर इसका कड़ा विरोध दर्ज कराने के लिए आन्दोलन की घोषणा कर दी है। इसके चलते लोक निर्माण विभाग के कर्मचारियों और अधिकारियों का सामूहिक आन्दोलन 6 जून से शुरू हो रहा है। छह व सात जून को एक दिवसीय प्रान्तव्यापी धरना एवं 28 जून को प्रान्तव्यापी रैली का आयोजन किया गया है। यह जानकारी महासंघ के महामंत्री वीके कुशवाहा ने दी। उन्होंने बताया कि सरकार जिस तरह के आरोप लगाकर लोक निर्माण विभाग का निगमीकरण कर रही है। वह सरासर गलत है। सरकार का मानना है कि लोक निर्माण विभाग दो-तीन वर्षों में सड़के पूरी नहीं बना पाते। जबकि यह आरोप गलत है। लोक निर्माण विभाग की गुणवत्ता की पहले भी सरकार के विभागीय मंत्री और तत्कालीन मुख्यमंत्री आम सभाओं के दौरान करते रहे है। लोनिवि सड़क निर्माण की सबसे बेहतर कार्यदायी संस्था है। विभागीय कर्मचारी दिन-रात एक करके कड़ी मेहनत से काम करते है। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश में अधिकतर निगमों की हालत किसी से छूपी नहीं है। फिर ऐसी स्थिति में एक अच्छे विभाग को निगम बनाकर सरकार क्या संदेश देना चाह रही है। उन्होंने बताया कि सरकार की इस विकास विरोध मंशा के खिलाफ लोक निर्माण विभाग का कर्मचारी अधिकारी एकजुट हो चुका है। पांच से छह बार वृहद बैठक के बाद आन्दोलन का निर्णय लिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:pwd news