PSP will not merger in any political party Shivpal - प्रसपा का किसी दल में विलय नहीं होगा: शिवपाल DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रसपा का किसी दल में विलय नहीं होगा: शिवपाल

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के प्रमुख शिवपाल सिंह यादव ने उनकी पार्टी के दूसरे दलों के विलय की अफवाहों पर नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा है कि प्रसपा का किसी दल में विलय नहीं होगा। अफवाहों और झूठे कयासों में कोई सच्चाई नहीं है। पार्टी सांप्रदायिकता, लूट और घूसघोरी के खिलाफ आंदोलन के लिए सड़कों पर उतरेगी।

शुक्रवार को पार्टी के कैंप कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में शिवपाल ने कहा कि भाजपा और संघ ने राष्ट्रवाद के मुद्दे पर भ्रम फैलाया है। इतिहास गवाह है कि सभी राष्ट्रवादी आंदोलन समाजवादियों ने चलाए। राम मनोहर लोहिया और जय प्रकाश नारायण के योगदान को पूरा देश जानता है। चंद्रशेखर आजाद,अशफाक उल्लाह और सरदार भगत सिंह जितने बड़े समाजवादी थे उतने ही महान राष्ट्रवादी भी थे। प्रसपा राष्ट्रवाद और समाजवाद के विराट पहलुओं से जनता को अवगत कराने के लिए अभियान चलाएगी। इसके लिए प्रशिक्षण शिविर लगाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी व्यक्तिगत रूप से ईमानदार और मेहनती हैं, लेकिन सरकार के अधिकांश मंत्री और अफसर भ्रष्टाचार में लिप्त हैं।

2022 की तैयारी में जुटे हैं पार्टी पदाधिकारी

शिवपाल ने कहा कि प्रसपा का लक्ष्य 2022 में प्रदेश में एक सशक्त सेकुलर व प्रगतिशील समाजवादी सरकार बनाने की है। इसके लिए पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने काम शुरू कर दिया है। प्रसपा जनता के सवालों पर आंदोलन करेगी और सड़कों पर उतरेगी। उन्होंने कहा कि मोदी-योगी के सभी काम सिर्फ भाषणों तक सीमित हैं। प्रदेश में कानून-व्यवस्था ध्वस्त है। सड़कों पर बहू-बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। पत्रकारों, साहित्यकारों और बुद्धिजीवी वर्ग का उत्पीड़न किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अखबारों में बलात्कार व भ्रष्टाचार की खबरें पढ़ते हैं तो वह मर्माहत होते हैं। आरोप लगाया कि पुलिस अपराधियों को पकड़ने के बजाय अन्य कामों में लगी हुई है। भरे कचहरी में बार काउंसिल अध्यक्ष की हत्या हो जाती है और लापरवाह अधिकारियों पर कोई कार्यवाही नहीं हो रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:PSP will not merger in any political party Shivpal