DA Image
20 अक्तूबर, 2020|8:27|IST

अगली स्टोरी

बोट बाइक घोटाले में पचास हजार का इनामी गिरफ्तार

default image

आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने एसटीएफ की मदद से बाइकबोट घोटाले में 50 हजार रुपये के इनामी अभियुक्त ललित कुमार को मंगलवार को मेरठ के मवाना से गिरफ्तार कर लिया है।

ईओडब्ल्यू के डीजी आरपी सिंह ने बताया कि ललित कुमार फरवरी में मेरठ, नोएडा, दिल्ली व बुलंदशहर में छिप कर रह रहा था। उसे एसटीएफ की मदद से मेरठ में ललित ने सुनियोजित तरीके से वर्ष 2018 में जानबूझ कर अपने नाम से 32 बाइक खरीदीं। इस पर उसे प्रतिमाह 3.12 लाख रिटर्न प्राप्त करने लगा। इससे आसपास के गांवों में चर्चा फैल गई कि यह स्कीम लाभकारी है। इसके बाद ललित कुमार ने संजय भाटी के साथ मिलकर एक सुनियोजित आपराधिक षड्यंत्र कर 3 करोड़ रुपये का प्रारंभिक टारगेट रखा। इसके लिए एक फार्च्यूनर गाड़ी खरीदी गई। जिससे आम लोगों में यह भ्रम फैल गया कि इस प्रकार वे भी पैसा कमा सकते हैं।

ईओडब्ल्यू की विवेचना में सामने आया है कि साजिश के तहत ही नोएडा के एक प्रतिष्ठित होटल में बड़े पैमाने पर कार्यक्रम रखा गया। इसी कार्यक्रम में संजय भाटी के जरिये एक फार्च्यूनर गाड़ी खुद को गिफ्ट कराई गई। कंपनी में जब बहुत अधिक संख्या में लोग जुटने लगे तो कंपनी ने पैसा देना बंद कर दिया। इनाम घोषित होने पर नोएडा पुलिस ने भी इसकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दी थी लेकिन उसकी गिरफ्तारी नहीं हो सकी केवल फार्च्युनर बरामद हुई थी। इसके बाद नोएडा पुलिस ने ललित के ऊपर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Prize of fifty thousand arrested in boat bike scam