priyanka gandhi road show - रिश्तों से वक्त की धूल हटाती नजर आईं प्रियंका DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिश्तों से वक्त की धूल हटाती नजर आईं प्रियंका

लखनऊ। वरिष्ठ संवाददाता

साल 1988...जब उत्तर प्रदेश ने आखिरी बार अपनी बागडोर कांग्रेस को सौंपी थी...इसके बाद तीन दशक का लम्बा दौर गुजर गया लेकिन देश की राजनीति के सबसे बड़े केन्द्र की सत्ता कांग्रेस के हाथ नहीं आई। हां, लोकसभा चुनावों में वक्त-वक्त पर यूपी दिल खोलकर कांग्रेस की झोली भरता रहा, लेकिन 2009 के बाद से उस चमत्कार के भी दोबारा होने की कांग्रेस राह ही देख रही है।

राहुल गांधी कोशिश तो खूब करते रहे लेकिन यूपी के साथ पार्टी के पुराने रिश्तों को संजीवनी नहीं दे सके। सोमवार को जब प्रियंका गांधी वाड्रा बतौर राष्ट्रीय महासचिव और पूर्वी उप्र की प्रभारी के रूप में लखनऊ पहुंचीं, तो उनके कदमों की आहट लखनऊ ने अपनी धड़कन में महसूस की। चाकचौबंद सुरक्षा के बीच हो रहे रोडशो के बीच में प्रियंका कई बार लखनऊ से अपने नए रिश्ते जोड़ते हुए और पुराने रिश्तों पर चढ़ी धूल हटाते हुए नजर आईं। हालांकि राहुल भी बहन के साथ खड़े थे लेकिन इस बार उनकी भूमिका पर्दे के पीछे वाले निर्देशक जैसी थी और चेहरा प्रियंका थीं।

शहर को महसूस करा गईं अपनापन: चुनावी रैलियां, रोडशो शहर में पहले भी होते रहे हैं मगर नेता सुरक्षा घेरे से बाहर निकलकर लोगों के बीच आते हुए कम ही दिखते हैं। लेकिन प्रियंका यहां भी उसी अंदाज में दिखीं जैसे वह इससे पहले रायबरेली या अमेठी में नजर आती रही हैं। सुरक्षा घेरे से निकलकर आम लोगों के बीच जाना, उनसे मिलना प्रियंका ने यहां भी जारी रखा। प्रियंका का रोड शो तकरीबन 3:15 बजे बर्लिंग्टन चौराहे पहुंचा। यहां से लालबाग के लिए मुड़ते हुए गाड़ी तारों में फंस गई और उसपर खड़े होकर आगे बढ़ना मुश्किल हो गया।

चाय की चुस्की और बच्ची को गोद में उठाना

प्रियंका और राहुल ने बजाए दूसरी गाड़ी के अंदर बैठकर आगे जाने के, एसयूवी की छत पर बैठना चुना ताकि लोगों से सम्पर्क न टूटे। आगे बढ़े तो लालबाग में शर्मा जी की चाय की दुकान पर काफिला रुक गया। यहां चाय की चुस्कियों पर कोशिश तो सियासत साधने की थी लेकिन आम लोगों को उनका यह अंदाज भा गया। इसके बाद आगे बढ़ते हुए भीड़ में से एक छोटी सी बच्ची मिष्ठी को प्रियंका ने अपनी गोद में उठा लिया। उस बच्ची के परिवार के लिए यह लम्हा ताउम्र सहेजकर रखी जाने वाली याद बन गया। इसी तरह पूरे रास्ते कार्यकर्ताओं व जनता का अभिवादन करते हुए काफिला कांग्रेस कार्यालय की ओर बढ़ गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:priyanka gandhi road show