ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश लखनऊप्रमुख सचिव ने ड्रोन से सफाई के सर्वे की हकीकत देखी

प्रमुख सचिव ने ड्रोन से सफाई के सर्वे की हकीकत देखी

लखनऊ, विशेष संवाददाता प्रमुख सचिव नगर विकास अमृत अभिजात ने शुक्रवार को...

प्रमुख सचिव ने ड्रोन से सफाई के सर्वे की हकीकत देखी
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,लखनऊSat, 25 Jun 2022 12:00 AM
ऐप पर पढ़ें

लखनऊ, विशेष संवाददाता

प्रमुख सचिव नगर विकास अमृत अभिजात ने शुक्रवार को राजधानी में नाले-नालियों की साफ-सफाई का ड्रोन से की जा रही निगरानी का निरीक्षण किया। उन्होंने कालीदास मार्ग, कैबिनेट गंज स्थित नाले की साफ-सफाई का ड्रोन के माध्यम से किये जा रहे सर्वे का मौके पर जाकर जायजा लिया।

प्रदेश सरकार ने बरसात के दौरान शहरों में जलभराव की समस्या से निपटने के लिए मानसून से पहले ही नाले-नालियों की साफ-सफाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए थे। साथ ही इसकी मॉनीटरिंग भी ड्रोन से कराई जाए, इसके निर्देश दिए हैं, जिससे की साफ-सफाई की हकीकत सामने आ सके। इसी क्रम में प्रमुख सचिव नगर विकास ने शुक्रवार को जायजा लिया।

इस दौरान प्रमुख सचिव ने कहा कि लखनऊ शहर के सभी नाले-नालियों की साफ-सफाई एक सप्ताह के भीतर हो जाए और ड्रोन के माध्यम से की जा रही निगरानी की रिपोर्ट शासन को उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने कहा कि नाले-नालियों में कहीं पर सिल्ट आदि जमा न हो यह सुनिश्चित किया जाए, जिससे कि बरसात के दौरान कहीं पर भी जलभराव की समस्या पैदा न हो। साथ ही सभी नाले-नालियों के चोक प्वाइंट को भी चेक कर लिया जाए तथा जलभराव की समस्या से निपटने के सम्पूर्ण प्रबंध भी समय से पूरे कर लिए जाएं, जिससे कि जलभराव से लोगों को परेशानी का सामना न करना पड़े। उन्होंने सभी नगर आयुक्तों को निर्देशित किया है कि एक सप्ताह के भीतर मानसून आने से पहले ही शहरों के सभी नाले-नालियों की साफ-सफाई पूरी तरह सुनिश्चित कराई जाए। निरीक्षण के दौरान प्रमुख सचिव नगर विकास को बताया गया कि लखनऊ नगर निगम सीमा में 3 मी. से अधिक चौड़े 88 बड़े नाले तथा 3 मी. से कम चौड़े 536 मझोले नाले और 929 छोटे नाले आते हैं। इस प्रकार कुल 1553 नाले हैं, जिनसे लखनऊ शहर का पानी बाहर जाता है।

नौ बड़े नाले-नालियों का ड्रोन से निरीक्षण

प्रमुख सचिव अमृत अभिजात और नगर आयुक्त अजय द्विवेदी ने आठ बड़े नाले और नालियों का ड्रोन से निरीक्षण किया। इनमें डालीबाग पुलिया से 1090 बंधे तक का नाला, हैदर कैनाल, सदर रामलीला मैदान के पास का नाला, उदयगंज कैनाल दफ्तर दीवार के बगल में स्थित नाला, मवैया टैक्सी स्टैंड ढाल वाला नाला, आम्बेडकर नगर में मवैया जंगला नाला, हैदर कैनाल कच्चा नाला से राजाजीपुरम टैम्पो स्टैंड तक का नाला और धोबीघाट मोतीनगर से सदर रामलीलाल मैदान तक का नाला शामिल हैं। प्रमुख सचिव ने विक्रमादित्य वार्ड के तहत एनईआर कालोनी होते हुए एमजी मार्ग रेलवे क्रॉसिंग, कालीदास मार्ग से कैबिनेटगंज तक बैरल संख्या 27 तक नाले की सफाई का मौके पर भी जा कर निरीक्षण किया।

epaper