DA Image
Wednesday, December 1, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश लखनऊगर्भवती और जुड़वा बच्चों को मिली नई जिंदगी

गर्भवती और जुड़वा बच्चों को मिली नई जिंदगी

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊNewswrap
Thu, 21 Oct 2021 08:35 PM
गर्भवती और जुड़वा बच्चों को मिली नई जिंदगी

लखनऊ। संवाददाता

केजीएमयू के डॉक्टरों ने जुड़वा शिशु को जन्म देने के साथ गंभीर रूप से बीमार प्रसूता को नया जीवन देने में कामयाबी हासिल की है। डॉक्टरों ने तीन दिन से वेंटिलेटर पर भर्ती प्रसूता की जान बचाई। अब प्रसूता पूरी तरह से स्वस्थ्य है। उसके जुड़वा शिशु भी सेहतमंद है।

अमेठी के ग्राम राम प्रसाद पुरवा निवासी सोनू वर्मा (22) को गर्भावस्था में दौरान ब्लड प्रेशर काफी बढ़ गया था। चिकित्सा विज्ञान में इसे सिवीयर प्री एक्लेमप्सिया एकलम्पसिया कहते हैं। 10 अक्तूबर को सोनू की तबीयत बिगड़ गई। परिवारीजन गर्भवती को लेकर केजीएमयू के स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग (क्वीनमेरी) लेकर पहुंचे। यहां विभाग की डॉ. मंजूलता की देखरेख में इलाज शुरू हुआ। ब्लड प्रेशर बढ़ा होने से मरीज की दिक्कतें बढ़ने लगी। गर्भस्थ शिशुओं की जान का खतरा पैदा हो गया। शिशुओं की जान बचाने के लिए डॉक्टरों को ऑपरेशन करना पड़ा। इसके बाद ब्लड प्रेशर कम होने लगा। शरीर में ऑक्सीजन की कमी होने लगी। नतीजतन मरीज को डॉक्टरों ने वेंटिलेटर पर रखने की जरूरत बताई। अल्ट्रासाउंड में पता चला कि दिल के चारों तरफ पानी भरा हुआ है। दिल ने काम करना बंद कर दिया था। आईसीयू-2 के डॉ. विपिन सिंह के मुताबिक सीपीआर किया गया। फिर दिल व उसके आस-पास पानी निकाला गया। इससे ब्लड प्रेशर और ऑक्सीजन की मात्रा नियंत्रित होने लगी। गुर्दे भी काम करने लगे। डॉ. विपिन के मुताबिक तीसरे दिन मरीज को वेंटिलेटर से बाहर निकाला गया। फिर उसे हाई फ्लो ऑक्सीजन मशीन पर रखा गया। बुधवार को नौवें दिन मरीज की हालत स्थिर हो गई।

ये है टीम

क्वीनमेरी की डॉ. मंजुलता, आईसीयू में डॉ. विपिन सिंह, डॉ. बीबी कुशवाहा, डॉ. प्रज्ञा, डॉ. तेजश्री, डॉ. सुमेधा, डॉ. कुलदीप, डॉ. कनिका, डॉ. तृप्ति , डॉ. आयुषी पांडेय, डॉ. अस्मिता, वार्ड मास्टर हरेराम पंडित व नर्सिंग स्टाफ राकेश यादव इलाज की टीम के हीरों हैं।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें