DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रधानमंत्री आवास योजना में अपात्रों को बना दिया पात्र

प्रधानमंत्री आवास योजना में धांधली कर अपात्रों को पात्र बनाकर आवास बांटे जा रहे हैं। माल ब्लाक में पहले लोगों को अपात्र बताते हुए लोगों को सूची से बाहर किया जाता है। कुछ समय बाद फिर साठगांठ कर उन्हीं अपात्रों को पात्र बनाकर पोर्टल में दर्ज कर दिया जाता है। सीडीओ की जांच में यह जालसाजी पकड़ी गई। इसके बाद पंचायत सचिव व ब्लाक के बाबू को निलंबित कर दिया गया है।

माल ब्लाक में इधर प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण)के लाभार्थियों के रजिस्ट्रेशन में बहुत देरी हो रही है। ब्लाक के 219 प्रधानमंत्री आवास के लक्ष्य की तुलना में अभी तक मात्र 51 लोगों को ही पहली किश्त ही भेजी जा सक । इस सुस्ती रफ्तार पर सीडीओ मनीष बंसल (आईएएस) ने पीडी से इसकी जांच कराए जाने के साथ ही बीडीओ और आवास पटल सहायक, अकाउंटेंट और ऑपरेटर को शनिवार तलब किया।

पहले अपात्र बताकर हटाया, फिर पात्र बनाकर जोड़ा

पटल सहायक के अनुसार कुछ पात्रों के आवास की आईडी पोर्टल पर न मिलने के कारण रजिस्ट्रेशन नहीं हो पा रहा। इस पर सीडीओ ने पोर्टल की पड़ताल की। कागजातों पर नजर दौड़ाई तो पाया कि वीरपुर गांव के जिन चार लाभार्थियों को सचिव ने अपात्र बताकर हटा दिया था। वो तो पोर्टल में दर्ज हैं। जबकि एडीओ (समाज कल्याण) की जांच में भी चारों अपात्र पाए गए थे। यह देखकर वह हैरान रह गए। जांच आगे बढ़ी तो पता चलाकि सचिव रवि तिवारी ने ब्लाक के बाबू से मिलकर चारों लाभार्थियों के पात्र होने की रिपोर्ट देकर उन्हें पोर्टल पर फिर दर्ज कराया। सीडीओ मनीष बंसल बताते हैं कि इससे यह साफ है कि अपात्रों को लाभ पहुंचाने की कोशिश की गई है। इसके बाद सचिव और पटल सहायक (बाबू) को निलंबित कर दिया और विभागीय कार्रवाई के भी आदेश दिए गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:pradhan Mantri Awas