ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश लखनऊपावर कारपोरेशन ने 19 कर्मचारी नेताओं को हड़ताल वापस लेने की नोटिस दिया

पावर कारपोरेशन ने 19 कर्मचारी नेताओं को हड़ताल वापस लेने की नोटिस दिया

शुक्रवार को इलाहाबाद उच्च न्यायालय द्वारा दिए गए आदेशों के क्रम में उ.प्र. पावर करपोरेशन प्रबंधन ने शुक्रवार को देर रात हड़ताली बिजली कर्मियों का...

पावर कारपोरेशन ने 19 कर्मचारी नेताओं को हड़ताल वापस लेने की नोटिस दिया
हिन्दुस्तान टीम,लखनऊFri, 17 Mar 2023 11:35 PM
ऐप पर पढ़ें

लखनऊ। प्रमुख संवाददाता

शुक्रवार को इलाहाबाद उच्च न्यायालय द्वारा दिए गए आदेशों के मद्देनज़र उ.प्र. पावर करपोरेशन प्रबंधन ने शुक्रवार को देर रात हड़ताली बिजली कर्मियों का नेतृत्व कर रही विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति और अन्य संगठनों के पदाधिकारियों को हड़ताल तत्काल समाप्त करने का नोटिस दिया है। नोटिस में लिखा है कि हड़ताल में शामिल सभी कर्मचारियों को निर्देशित करें कि वह अपनी ड्यटी पर वापस जाएं। कुल 19 पदाधिकारियों का नाम नोटिस में शामिल है।

नोटिस में इस बात का हवाला दिया गया है कि पहले ही अवगत कराया गया था कि प्रदेश में एस्मा लागू है। विद्युत आपूर्ति इससे आच्छादित होने के कारण किसी भी प्रकार की हड़ताल व आंदोलन प्रतिबंधित है। शुक्रवार को उच्च न्यायालय द्वारा पारित आदेश के दृष्टिगत राज्य में बिजली आपूर्ति निर्बाध एवं निरंतर बनाए रखने के लिए हड़ताल तत्काल वापस लें।

इन कर्मचारी नेताओं को प्रबंधन ने दी है नोटिस

कारपोरेशन के निदेशक कार्मिक एवं प्रशासन मृगांक शेखर दास भट्ट मिश्रा की तरफ से यह नोटिस जारी किया गया है। विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के संयोजक शैलेंद्र दुबे, महासचिव जितेंद्र सिंह गुर्जर व जीवी पटेल, उ.प्र. राज्य विद्युत उत्पादन निगम अधिकारी एसोसिएशन के महासचिव मनीष कुमार मिश्र, उ.प्र. बिजली कर्मचारी संघ के मुख्य महामंत्री महेंद्र राय, उ.प्र. बिजली मजदूर संगठन के महामंत्री सुहैल आबिद, हाइड्रो इलेक्ट्रिक इम्प्लाइज यूनियन के प्रमुख महामंत्री पीके दीक्षित, विद्युत मजदूर संघ के महामंत्री शशिकांत श्रीवास्तव, राज्य विद्युत परिषद प्राविधिक कर्मचारी संघ के केंद्रीय महासचिव मो. वसीम, विद्युत कार्यालय सहायक संघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष योगेंद्र कुमार, यूपी बिजली बोर्ड इम्प्लाइज यूनियन (सीटू) के महामंत्री विश्वंभर सिंह, विद्युत कार्यालय कार्मिक संघ के प्रांतीय महामंत्री राम सहारे वर्मा, उ.प्र. ताप विद्युत मजदूर संघ के अध्यक्ष शंभू रतन दीक्षित, उ.प्र. राज्य विद्युत परिषद श्रमिक संघ के अध्यक्ष पीएस वाजपेयी, विद्युत पैरामेडिकल एसोसिएशन के महामंत्री जीपी सिंह, विद्युत मजदूर यूनियन के अध्यक्ष रफीक अहमद, उ.प्र. पावर कारपोरेशन निविदा/संविदा कर्मचारी संघ के महामंत्री देवेंद्र पांडेय, विद्युत कर्मचारी मोर्चा संगठन के प्रांतीय अध्यक्ष छोटे लाल दीक्षित तथा विद्युत मजदूर संगठन के अध्यक्ष आरवाई शुक्ला को यह नोटिस भेजा गया है।

सौ से अधिक संविदा कर्मी सेवा से हटाए गए

गुरुवार रात से शुरू हड़ताल के दौरान ड्यूटी नहीं आने वाले 100 से अधिक संविदा कर्मियों की सेवाएं समाप्त कर दी गई हैं। विभिन्न बिजली कंपनियों ने इन संविदा कर्मचारियों की सेवा समाप्त करने का आदेश जारी किया है। शनिवार को ड्यूटी से गायब रहते हुए हड़ताल में शामिल होने वाले अन्य संविदा कर्मियों के खिलाफ भी कार्रवाई किए जाने की तैयारी है। पावर कारपोरेशन के एक उच्चाधिकारी ने बताया है कि बड़ी संख्या में संविदा कर्मी सेवा से हटा दिए गए हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें