class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पॉवर-कारपोरेशन ने भी लागू किया ‘ईज आफ डूइंग बिजनेस

- देरी या परेशानी पर एमडी होंगे जिम्मेदार

-बदायूं में तीन बिजली अफसरों पर कार्रवाई के निर्देश

राज्य मुख्यालय- प्रमुख संवाददाता

यूपी पॉवर कारपोरेशन ने अब ‘ईज आफ डूइंग बिजनेस को लागू कर दिया है। अब नए उपभोक्ताओं को बिजली कनेक्शन के लिए इधर-उधर नहीं भटकना पड़ेगा। इसके लिए सीधे बिजली निगमों के एमडी जिम्मेदार होंगे। प्रमुख सचिव ऊर्जा और यूपीपीसीएल के चेयरमैन आलोक कुमार ने बदायूं में एक प्रकरण पर तीन बिजली अफसरों पर कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

प्रमुख सचिव ने बिजली कनेक्शन देने में बिना पर्याप्त कारण देरी पर कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। सभी वितरण निगमों के एमडी को जारी दिशा-निर्देशों में उन्होंने कहा है कि बिजली कनेक्शन देने में लोगों को परेशान किया जा रहा है। इस तरह की शिकायतें पूरे प्रदेश से आ रही हैं। यह बेहद गंभीर मामला है। यह तय किया जाए कि कनेक्शन देने में लोगों को कोई परेशानी न हो, अधिक दौड़भाग न करनी पड़े और कोई कर्मचारी उनसे निर्धारित शुल्क के अलावा वसूली न कर सके। यदि ऐसी कोई शिकायत हो तो एमडी खुद सुनवाई करें।

अधिशाषी अभियंता, एसडीओ व जेई को प्रतिकूल प्रविष्टि

प्रमुख सचिव आलोक कुमार ने कहा कि बदायूं के सहसवान में भारतीय स्टेट बैंक को कनेक्शन देने के मामले में बिना कारण देरी की गई। इसमें एमडी मध्याचंल के निर्देश पर चीफ इंजीनियर बरेली खुद मौके पर जाकर कनेक्शन दिलाया। इस मामले में लापरवाही बरतने वाले अधिशाषी अभियंता, एसडीओ और जेई को प्रतिकूल प्रविष्टि और निंदा प्रविष्टी देने के निर्देश दिए गए हैं। ऐसे मामले अगर सामने आते हैं तो चीफ इंजीनियर और उसके बाद संबंधित निगम के एमडी जिम्मेदार होंगे।

प्रमुख सचिव ऊर्जा ने कहा कि ‘ईज आफ डूइंग बिजनेस के तहत उद्योग, वाणिज्यिक संस्थानों को निवेश के नजरिए से बढ़ावा देने पर जोर दिया जा रहा है। इसलिए बिजली कनेक्शन देने में किसी भी प्रकार की देरी नहीं होनी चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:power corporation
निकाय चुनाव-प्रेक्षकों को आयुक्त ने बताए चुनाव डयूटी में उनके कार्यकलापब्रज भाषा और साहित्य का प्रचार बढ़ना चाहिए