Post office: Manoj Sinha - बैंकों की तरह काम करेंगे डाकघर : मनोज सिन्हा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंकों की तरह काम करेंगे डाकघर : मनोज सिन्हा

communication

गांव-देहात के डाकघर अब बैंकों की तरह काम करेंगे। पैसा जमा करने व निकालने के साथ विदेश में बैठा व्यक्ति अपने गांव तक सीधे पैसा भेज सकेगा। इसके लिए डाक विभाग ने जिला मुख्यालयों पर पोस्ट पेमेंट बैंक खोलने की तैयारी की है। जिले के सभी डाकघर तकनीकी के माध्यम से जोड़े जाएंगे। यह बात केन्द्रीय संचार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) व रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने कही।

उन्होंने शुक्रवार को लखनऊ परिमण्डल के चीफ पोस्ट मास्टर जनरल कार्यालय में नवनिर्मित परिक्षेत्र मुख्यालय का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि डाक विभाग की गांव के हर व्यक्ति तक मजबूत पकड़ है। इसी के मद्देनजर संचार सेवा के साथ बैंकिंग सेवा शुरू करने फैसला किया है। देश के सभी जिला मुख्यालयों पर लगभग 650 पोस्ट पेमेंट बैंक की स्थापना की जा रही है। पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में रांची व रायपुर में बैंक शुरू हो गया है। अगले वर्ष मार्च तक सभी बैंकों की स्थापना कर दी जाएगी। इन बैंकों से ऋण उपलब्ध कराने की सेवा के अलावा सभी सुविधाएं लोगों को मिलेंगी। इनके माध्यम से सरकारी योजनाओं का लाभ गांव के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाया जाएगा।

मेरठ में खुलेगा आठवां परिक्षेत्र

श्री सिन्हा ने कहा कि पिछले तीन वर्ष में वाराणसी व लखनऊ परिक्षेत्र की स्थापना की जा चुकी है। शीघ्र ही मेरठ में आठवें परिक्षेत्र की स्थापना की जाएगी। लखनऊ परिक्षेत्र में लखनऊ के साथ सीतापुर, बाराबंकी, रायबरेली, फैजाबाद व अम्बेडकर जिले शामिल हैं। तकनीकी पर विशेष जोर मंत्री ने कहा कि तकनीकी पर विशेष जोर दिया जा रहा है। नेट के जरिए डाकघर आपस में तो जुड़ेंगे ही साथ ही स्वाइप (पॉश)मशीन भी लगाई जाएगी। डाकघरों में अब तक 624 स्वाइप मशीन लगाई जा चुकी है। लोग कार्ड से डाकघरों या पोस्ट पेमेंट बैंक में धनराशि जमा कर सकेंगे या किसी के खाते में धनराशि भेज सकेंगे। सुकन्या समृद्धि योजना के पासबुक बांटा इस मौके पर सुकन्या समृद्धि योजना के तहत डाकघरों में खाता खुलवाने वाले दस कन्याओं को पासबुक बांटा गया। इसमें प्रिया यादव, अदिति रावत, चांदनी, शिवानी, कनक, काव्या, कृष्णा रावत, एलिजबल व धृति श्रीवास्तव शामिल रहीं। धृति श्रीवास्तव अभी महत 20 दिन की है। उसके पिता ने पासबुक प्राप्त किया।

पासपोर्ट सेवा से भी जुडेंगे डाकघर

मंत्री ने कहा कि डाक विभाग को पासपोर्ट सेवा से भी जोड़ा जाएगा। शुरुआत में 12 पासपोर्ट सेवा केन्द्र खोलेने की योजना है। इसमें पांच पासपोर्ट सेवा केन्द्र बन चुके हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की मंशा है कि किसी भी व्यक्ति को पासपोर्ट बनवाने के 50 किलोमीटर से ज्यादा न जाना पड़े। इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए डाक विभाग सक्रियता से काम कर रहा है। डाक सेवकों की समस्या दूर होंगी श्री सिन्हा ने कहा कि डाक सेवकों की परेशानी से केन्द्र सरकार अवगत है। उनके सामने आर्थिक समस्या है। परिवार के पालन-पोषण में उनको संघर्ष करना पड़ रहा है। उनकी समस्या के समाधान के लिए सकारात्मक फैसला किया जाएगा। ट्रैक व टैस सिस्टम लागू करें समय पर राखी न पहुंचने की ट्विटर पर हुई शिकायत पर मंत्री ने कहा कि यह गंभीर विषय है। ट्रैक व ट्रैस सिस्टम लागू किया जा रहा है। लोगों का डाक विभाग पर बहुत भरोसा है। इस साख को बनाए रखना बड़ी जिम्मेदारी है।

इस मौके पर प्रदेश के वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री उपेन्द्र तिवारी, चीफ पोस्ट मास्टर जनरल वाईपी राय, पोस्ट मास्टर जनरल मुख्यालय परिक्षेत्र जितेन्द्र गुप्ता, निदेशक डाक सेवाएं राजीव उमराव आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Post office: Manoj Sinha