DA Image
29 फरवरी, 2020|10:35|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्मार्ट सिटी के सीईओ के कक्ष पर पुलिस का कब्जा, हंगामा

default image

मण्डलायुक्त व पुलिस कमिश्नर से शिकायत

लखनऊ। प्रमुख संवाददाता

दयानिधान पार्क में बने स्मार्ट सिटी कार्यालय में मुख्य अधिशासी अधिकारी (सीईओ) के कक्ष पर पुलिस ने शुक्रवार को कब्जा करने की कोशिश की। कक्ष के बाहर लगी सीईओ की नेम प्लेट उखाड़कर फेंक दी। सीईओ व नगर आयुक्त डॉ. इन्द्रमणि त्रिपाठी का डीसीपी ट्रैफिक चारू निगम से वाद-विवाद हुआ। मामला मण्डलायुक्त व पुलिस कमिश्नर तक पहुंच गया है।

डीसीपी चारू निगम ने स्मार्ट सिटी दफ्तर में कमरा आवंटित करने के लिए सुबह नगर आयुक्त को मोबाइल पर मैसेज किया। नगर आयुक्त ने इसके लिए स्मार्ट सिटी के बोर्ड आफ डायरेक्टर व मण्डलायुक्त मुकेश मेश्राम से बात करने को कहा। मण्डलायुक्त से बात करने के बजाए वह कुछ देर में अपने सहयोगियों के साथ स्मार्ट सिटी दफ्तर पहुंच गईं। प्रथम तल पर बने स्मार्ट सिटी के सीईओ के कक्ष पर कब्जा शुरू कर दिया। उन्होंने सीईओ की नेम प्लेट भी उखाड़कर फेंक दी। इसपर स्मार्ट सिटी दफ्तर में हड़कम्प मच गया। उस समय नगर आयुक्त व सीईओ डॉ. इन्द्रमणि त्रिपाठी नीचे ही बैठे थे। जानकारी हुई तो वह अपने कक्ष के सामने पहुंचे। स्थिति देखकर उन्होंने विरोध किया। उन्होंने कहा कि यह तरीका ठीक नहीं है।

नगर आयुक्त ने कहा कि कक्ष देने का फैसला मण्डलायुक्त करेंगे। वह ही इसके लिए अधिकृत हैं। उनकी अनुमति के बिना कक्ष आवंटित करना संभव नहीं है। उन्होंने मण्डलायुक्त व पुलिस कमिश्नर से बात कर वस्तुस्थिति से अवगत करा दिया है।

मण्डलायुक्त स्मार्ट स्मार्ट सिटी के बोर्ड आफ डायरेक्टर हैं। उन्हीं को कक्ष देने का फैसला करना है। इस संबंध में डीसीपी को अवगत करा दिया गया था। लेकिन जबरन कब्जा करने लगीं। यह तरीका ठीक नहीं था। फिलहाल स्थिति सामान्य हो गई है। मण्डलायुक्त के आदेश पर उनको कोई दूसरा कक्ष आवंटित कर दिया जाएगा।

डॉ. इन्द्रमणि त्रिपाठी, नगर आयुक्त व सीईओ स्मार्ट सिटी

नेम प्लेट उखाड़ने की बात गलत है। वहीं पर आइटीएमएस का आफिस है। नया बोर्ड लगाने पर कुछ गलतफहमी हो गई थी। लेकिन विवाद जैसी कोई स्थिति नहीं है।

चारू निगम, डीसीपी ट्रैफिक

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Police occupies the room of CEO of Smart City uproar