DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  लखनऊ  ›  गर्भवती का मुकदमा नहीं लिखने पर सख्त हुए पुलिस कमिश्नर
लखनऊ

गर्भवती का मुकदमा नहीं लिखने पर सख्त हुए पुलिस कमिश्नर

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊPublished By: Newswrap
Wed, 16 Jun 2021 10:00 PM
गर्भवती का मुकदमा नहीं लिखने पर सख्त हुए पुलिस कमिश्नर

दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर गर्भवती के साथ पति ने की थी मारपीट

लखनऊ। संवाददाता

दहेज प्रताड़ना से परेशान गर्भवती ससुराल वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के लिए आशियाना थाने पहुंची थीं, जहां उसकी सुनवाई नहीं हुई। परेशान महिला ने थाने से ही पुलिस कमिश्नर को फोन मिला कर आपबीती और पुलिस की कार्यशैली के बारे में बताया। गर्भवती के साथ किए गए बर्ताव पर कमिश्नर ने इंस्पेक्टर आशियाना को चेतावनी दी और तुरन्त मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करने को कहा।

बंगलाबाजार निवासी मोहिनी की शादी तीन साल पहले गोसाईंगंज निवासी निर्मल तिवारी से हुई थी। मोहिनी के मुताबिक शादी के बाद से ही उस पर मायके से दहेज लाने का दबाव बनाया जाता था। मना करने पर उसे पति और ससुराल वाले प्रताड़ित करते थे। मोहिनी के मुताबिक गर्भ ठहरने के बाद उसके साथ और मारपीट की जाने लगी। मंगलवार को भी उसे पीटा गया था। मां पुष्पा द्विवेदी के मुताबिक बेटी को वह घर ले आईं थीं। बुधवार को पुष्पा बेटी को साथ लेकर आशियाना कोतवाली पहुंची थीं। आरोप है कि पुलिस कर्मी मुकदमा दर्ज करने को तैयार नहीं थे। इसके बाद पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर को फोन किया गया था। इंस्पेक्टर परमहंस गुप्ता के मुताबिक मोहिनी की शिकायत पर पति निर्मल समेत ससुराल वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है।

संबंधित खबरें