DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लूट के चार अभियुक्तों को बलरामपुर पुलिस ने पकड़ा

भाई-बहन को पीट कर की गई लूट की घटना का खुलासा पुलिस ने कर दिया है। वारदात को अंजाम देने वाले चार अभियुक्तों को पुलिस ने जेल भेजा है। सभी अभियुक्त तुलसीपुर थाना क्षेत्र के गांव गुदरा के निवासी हैं। गौरा चौराहा थाना क्षेत्र में यह घटना 18 मई की रात में हुई थी। 
कोलुहिया निवासी राकेश जायसवाल अपनी चचेरी बहन दुर्गा के साथ बाइक से सिंगाही स्थित मौसी के घर गया था। लौटते समय रात करीब साढ़े आठ बजे सिंघवापुर गिट्टी प्लांट के आगे पहुंचते ही चार लोगों ने डण्डे से हमला कर दिया। जिससे मोटरसाइकिल से दोनों भाई बहन गिर गए। बदमाशों ने दोनों को बुरी तरह मारा पीटा। नोकिया मोबाइल, बहन का पर्स, नाक की बाली और आधार कार्ड व कुछ पैसे छीन कर बदमाश फरार हो गए थे। पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने बताया कि मामले के खुलासे के लिए स्थानीय पुलिस के साथ क्राइम ब्रांच की टीम लगाई गई थी। 31 मई को गौरा थाने के प्रभारी निरीक्षक मथुरा राय व क्राइम ब्रांच प्रभारी राजकुमार सिंह को मुखबिर से सूचना मिली कि मुकदमे से संबंधित अभियुक्त गुलहरिया घाट आए हैं और फिर किसी घटना को अंजाम देने की फिराक में हैं। संयुक्त टीम ने करीब चार बजे गुलहरिया के पास चार व्यक्तियों को पकड़ लिया। उन्होंने अपनी पहचान इंसाफ अली पुत्र मतलूब, जाफर पुत्र अब्दुल रहीम, जलील पुत्र नाजिम अली व जाहिद पुत्र जाफर निवासीगण गुदरा थाना तुलसीपुर के रूप में की। पूछताछ में अभियुक्तों ने स्वीकार किया कि 18 मई को हुई वारदात को उन्होंने ही अंजाम दिया था। अभियुक्तों के पास से नोकिया मोबाइल, एक अदद चेन, एक जोड़ी बाली, एक पर्स, एक नाक की कील, सौ रुपए व आधार कार्ड बरामद किए गए। मामले का खुलासा करने वाली टीम को पुलिस अधीक्षक ने पांच हजार रुपए पुरस्कार देने की घोषणा की। 
 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Police arrested four accused of robbery