DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कामकाज:::पीजीआई और केजीएमयू के कर्मी मांगों के लिए मुख्य सचिव से मिले

-मुख्य सचिव के आश्वसान के बाद पीजीआई और केजीएमयू कर्मियों का आन्दोलन स्थगित लखनऊ। निज संवाददातापीजीआई और केजीएमयू के कर्मचारियों ने काला फीता बांधने का कार्यक्रम मुख्य सचिव अनूप चंद पाण्डेय से हुई वार्ता के बाद स्थगित कर दिया है। दोनों संस्थान के कर्मचारी लम्बे समय से 7 वें वेतनमान के अनुसार भत्ते, संवर्ग पुनगर्ठन और पीजीआई की नियमावली 2011 के संशोधन की मांग कर रहे हैं। इनकी मांगों पर संस्थान प्रशासन और शासन द्वारा ढुलमुल रवैया अपनाए जाने से खफा कर्मचारियों ने मंगलवार से काला फीता बांधकर विरोध शुरू कर दिया था। हालांकि इस दौरान कर्मचारियों ने मरीजों के हित को ध्यान में रखते हुए कार्य बहिष्कार नही किया।कर्मचारी महासंघ पीजीआई की अध्यक्ष सावित्री सिंह व वरिष्ठ उपाध्यक्ष चन्द्रप्रभा, कर्मचारी परिषद केजीएमयू के अध्यक्ष विकास सिंह, महामंत्री प्रदीप गंगवार व उपाध्यक्ष खालिद अख्तर के अलावा नर्सेज एसो. केजीएमयू की अध्यक्ष यदुनंदनी को मुख्य सचिव अनूप चंद पाण्डेय ने वार्ता के लिए बुलाया था। मुख्य सचिव ने कर्मचारी नेताओं को आश्वासन दिया कि उनकी मांगों पर शासन जल्द कार्रवाई की जाएगी। इस सम्बंध में उन्होंने प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा रजनीश दुबे को निर्देश दिया है कि वह संस्थान के प्रमुखों से वार्ता कर कर्मचारियों की लंबित मांगों का जल्द निपटारा करें। साथ ही मुख्य सचिव ने कुछ दिन की मोहलत देते हुए कर्मचारियों से कहा कि वो काला फीता बांधने का कार्यक्रम स्थगित कर दें। सरकार कर्मचारियों की समस्याओं को जल्द निस्तारण करेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:pgi