DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संविदा कंप्यूटर आपरेटरों ने मांगा लोहिया संस्थान के बराबर मानदेय

-कर्मचारी महासंघ ने संस्थान निदेशक को ज्ञापन सौंपा -संविदा में 180 कम्प्यूटर आपरेटर और 130 पेशेंट हेल्पर हैं लखनऊ निज संवाददाता कर्मचारी महासंघ पीजीआई ने संस्थान में काम कर रहे संविदा कम्प्यूटर आपरेटरों और पेंशेंट हेल्परों को लोहिया संस्थान के बराबर मानदेय देने मांग उठायी है। महासंघ की अध्यक्ष सावित्री सिंह, संयोजक मदन मुरारी सिंह, वरिष्ठ उपाध्यक्ष अफसर बेग ने संस्थान के निदेशक डॉ. राकेश कपूर को ज्ञापन सौंपा। साथ ही लोहिया में मिल रहे मानदेय के आदेश की प्रति भी दी। संस्थान के निदेशक डॉ. राकेश कपूर ने महासंघ को आश्वासन दिया कि वो शासन स्तर पर वार्ता कर लोहिया संस्थान के बराबर मानदेय दिलाने की हर संभव प्रयास करेंगे। इस दौरान मौजूद अपर निदेशक जयंत नार्लेकर, सीएमएस डॉ.अमित अग्रवाल, संयुक्त निदेशक डॉ. उत्तम सिंह ने महासंघ की मांग पर सहमति जतायी है। महासंघ की अध्यक्ष सावित्री सिंह का कहना है कि 16 सितंबर 2016 से लोहिया संस्थान कंप्यूटर आपरेटर को 15 हजार रुपए और पेशेंट हेल्पर को 10 हजार पांच सौ रुपए का मानदेय दिया जा रहा है। लोहिया में ड्राइवर को भी 15 हजार दिए जा रहे हैं लेकिन पीजीआई में कंप्यूटर आपरेटर को अभी भी 10752 रुपया दिया जा रहा है। इसमें ईपीएफ और ईसीएस भी काटा जा रहा है। पीजीआई में पेशेंट हेल्पर को 86 सौ रुपया मिलता। इसमें ईपीएच और ईसीएस कटता है। संस्थान में 180 कंप्यूटर आपरेटर और 130 पेशेंट हेल्पर आउट सोर्सिंग के जरिए संविदा पर तैनात किए हैं। लोहिया संस्थान की शासी निकाय ने 10 अगस्त 2016 को स्किल्ड कैटेगरी को 15 हजार और अन स्किल्ड को 10 हजार पांच सौ रुपए मानदेय़ दिए जाने का निर्णय लिया था। जिसे संस्थान ने लागू भी किया था। यही मानदेय पीजीआई में लागू किया जाना चाहिए। हालांकि पीजीआई प्रशासन जल्द ही कम्प्यूटरी आपरेटर और पेंशेंट हेल्परों का मानदेय बढ़ाने पर विचार कर रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:pgi