अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीएनजी गैस की वृन्दावन योजना पम्प पर भारी बवाल

लखनऊ। हिन्दुस्तान संवाद वृन्दावन योजना सेक्टर-छह स्थित ग्रीन गैस के सीएनजी स्टेशन पर गैस देने हो रही धांधली को लेकर भारी बवाल हुआ। सीएनजी स्टेशन पर काम करने वाले कर्मचारियों ने दो वाहन चालकों को जमकर पीटा। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए। पीड़ितों का आरोप है कि उन्होंने स्टेशन के कर्मचारियों द्वारा पैसे लेकर बिना लाइन के वाहनों को गैस दिए जाने का बिरोध किया था। सूचना पर पहुंची पीजीआई पुलिस ने तीन आरोपियों को थाने ले गई और दोनों घायलों को इलाज के लिए ट्रामा सेंटर भेजा।पैसा लेने का वीडियो बनाने के प्रयास पर स्टाफ ने पीटा रविवार दोपहर बाद करीब तीन बजे ग्रीन गैस लिमटेड के वृन्दावन स्टेशन पर काफी भीड़ थी। सुपरवाइजर केके अवस्थी और उनका स्टाफ ड्यूटी पर था। चालकों का आरोप है की पम्प का गार्ड बिना लाइन के ही पैसे लेकर कई गाड़ियों को सीएनजी दिलवा रहा था। इसे देख वैन चालक हरिशंकर ने गार्ड द्वारा की जा रही घूसखोरी का वीडियो बनाने का प्रयास किया। इसी बात से बौखलाए सुपरवाइजर और पूरे स्टाफ ने हरिशंकर पर हमला कर दिया। उसको पीटता देख वैगनआर चालक मनोज उसे छुड़ाने लगा तो उन लोगो ने उसे भी मारपीट कर घायल कर दिया।मौके से भागने का प्रयाससीएनजी स्टेशन स्टाफ द्वारा दो चालकों की पिटाई से अन्य वाहन चालक भड़क गए। चालको ने हंगामा शुरू कर दिया। इस से डरे सुपरवाइजर और अन्य कर्मचारी सुपरवाइजर की गाड़ी से भागने का प्रयास किया, लेकिन रेडियो टैक्सी चालकों की भीड़ ने उन्हें घेर कर पकड़ लिया और घटना की सूचना पर पहुंचे एसओ पीजीआई को सौंप दिया।ट्रामा दो से भेजा ट्रामा सेंटरपुलिस ने दोनों घायलों हरिशंकर व मनोज को नजदीक के ट्रामा-दो ले गए। जहां डाक्टरों ने मनोज की गंभीर हालत को देखते हुए उसे ट्रामा सेंटर भेज दिया। वहीं हरी शंकर का इलाज ट्रामा-दो में चल रहा है। उसके चेहरे और शरीर में अंदरूनी चोट आई हैं। सीएनजी स्टेशन हुआ बंद, पुलिस का पहरा बढ़ते बवाल के बीच रेडियो टैक्सी संचालक संघ के अध्यक्ष आरके पांडे भी मौके पर पहुंचे और जमकर हंगामा किया। चालकों के हंगामे को देखते हुए आशियाना पुलिस को भी मौके पर बुला लिया गया। एसओ पीजीआई बृजेश राय ने समझा बुझा कर मामला संभाला। चालकों का आरोप था की कई दिन से यहाँ का स्टाफ पैसे लेकर बिना लाइन के गैस दे रहा था। विरोध पर दो चालकों के साथ अमानवीय व्यवहार किया गया। वाहन चालकों के गुस्से और घटना की गंभीरता को देखते हुए सीएनजी पम्प को बंद कर पुलिस का पहरा बैठा दिया गया है। एसओ पीजीआई ने बताया की ग्रीन गैस के सुपरवाइजर केके अवस्थी और तीन अन्य लोगों को थाने पर लाया गया है। एक घायल को ट्रामा सेंटर भेजा गया है। अभी तक किसी पक्ष की ओर से कोई तहरीर नहीं आई है। जाँच चल रही है। उचित कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:pgi