DA Image
9 जुलाई, 2020|11:01|IST

अगली स्टोरी

नए साल के जश्न में डूबे लोग, दिन भर गुलजार रही श्रावस्ती

Sapkavinath Temple

1 / 2श्रावस्ती के भगवान संभवनाथ मंदिर में पूजा करते जैन धर्माचार्य।

People

2 / 2श्रावस्ती पर्यटन स्थल में घूमते लोग।

PreviousNext

वर्ष 2018 का स्वागत करने के लिए देर रात से जश्न मनाया जा रहा है। सोमवार को दिन भर कार्यक्रम होते रहे। जबकि अंतरराष्ट्रीय पर्यटनस्थली श्रावस्ती गुलजार रही। कहीं केक काट कर तो कहीं डीजे की धुन पर थिरकते हुए युवाओं ने नए साल का स्वागत किया।
वर्ष 2017 के अंतिम दिन देर रात से नए साल का जश्न शुरू हो गया। देर रात में भिनगा के नई बाजार में डीजे की धुन पर नाचते हुए युवाओं ने नए साल का जश्न मनाया। युवाओं ने रात के 12 बजते ही एक दूसरे को नए साल की बधाई देना शुरू कर दिया। जबकि सुबह होते ही युवाओं ने जिले के प्रमुख दर्शनीय स्थलों में जाकर नए साल का जश्न मनाया।
अंतर्राष्ट्रीय बौद्धस्थली श्रावस्ती में नए साल पर दिन भर पर्यटकों की धूम रही। श्रावस्ती में विदेशी पर्यटकों की भीड़ तो रही ही। स्थानीय लोगों की भी खूब भीड़ रही। लोगों ने श्रावस्ती के थाई डेन महामंकोल मंदिर, लंका मंदिर, संभवनाथ दिगम्बर और स्वेताम्बर मंदिर, बौद्ध कुटी, अंगुलीमाल गुफा आदि स्थानों पर लोगों की भारी भीड़ देखी गई। नए साल पर संभवनाथ मंदिर में विशेष पूजन अर्चन किया गया।

 

 

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:People who are celebrating the New Year celebration Shravasti