DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्लीपर बस योजना में सिर्फ 42 बसों के टेंडर पड़े

लखनऊ सहित प्रदेश के 27 रूटों पर स्लीपर बस दौड़ाने की तैयारी

स्लीपर बसों की संख्या 57 के बदले सिर्फ 42 बसों के टेंडर आए

लखनऊ। कार्यालय संवाददाता

स्लीपर बस योजना 2018 में अनुबंधित बस मालिकों ने बढ़चढ़कर हिस्सा नहीं लिया। नजीता 12 सितम्बर को टेंडर डालने की अंतिम तारीख पर आधा दर्जन निजी बस आपरेटरों ने हिस्सा लिया। इन सभी ने 42 बसों के अनुबंध के लिए लिए टेंडर डाले। इनमें कई ऐसे भी टेंडर डाले गए जो दो निजी आपरेटरों ने मिलकर टेंडर डाला है। ऐसे में बसों की संख्या और कम होती नजर आ रही है, जबकि परिवहन निगम की ओर से 57 स्लीपर बसों की मांग को देखते हुए टेंडर जारी किए गए थे।

परिवहन निगम मुख्यालय पर तैनात प्रधान प्रबधंक पी आर बेलवारिया ने बताया कि बुधवार दोपहर तक 42 बसों के अनुबंध करने को लेकर टेंडर आए है, जबकि 57 बसों के अनुबंध के लिए टेंडर जारी किए गए थे। इस संबंध में शुक्रवार को एक रिपोर्ट प्रबंध निदेशक को सौपेंगे। उनकी अनुमति के बाद टेंडर की तारीख बढ़ाए जाने पर फैसला होगा। प्रदेश के 27 रूटों पर स्लीपर बसें संचालित करने का प्रस्ताव है। इन रूटों पर 57 स्लीपर बसों का बेड़ा होगा। टेंडर में बसों की संख्या कम है। ऐसे में प्रबंध निदेशक की ओर से जो भी निर्देश दिए जाएंगे। उसी आधार पर बसों की संख्या बढ़ाने के संबंध में दिशा निर्देश अनुबंधित बस मालिकों को देंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:parivahan