अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बच्चों के पाठयक्रम में ट्रैफिक नियमों का पाठ होगा

लखनऊ। निज संवाददाता

इस बार नए शिक्षण सत्र से बच्चों को किताबों में नया पाठ पढ़ने को मिल सकता है। यह पाठ होगा ट्रैफिक नियमों का। यातायता नियमों से जुड़े सभी जानकारी किताबों में एक पाठ के रूप में पढ़ने को मिलेगी। इस पाठ को कक्षा एक के बच्चों से लेकर 12 वीं तक के छात्र-छात्राओं को पढ़ाया जाएगा। पाठ में यातायात नियमों को नहीं मानने पर होने वाली सड़क दुर्घटनाओं के बारे में भी जानकारी दी जाएगी।

पाठयक्रम में यातायात नियमों को शामिल करने की यह व्यवस्था सड़क सुरक्षा नीति 2014 के अंतर्गत की जा रही है। इस सिलसिले में परिवहन विभाग के सड़क सुरक्षा सेल की ओर से राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद को पत्र लिखकर यातायता नियमों पर आधारित पाठ को शामिल करने की बात कहीं गई है। अब उम्मीद जताई जा रही है कि अप्रैल माह से शुरू हो रहे नए सत्र में इस पाठ को शामिल किया जाएगा। इससे आने वाले दिनों में सड़क दुर्घटना कम होने की उम्मीद जताई जा रही है।

सड़क चिन्हों की जानकारी जरूरी

कोई व्यक्ति जब पहली बार सड़क पर वाहन चलाता है तो उसे सड़क संबंधी चिन्हों की जानकारी होना जरूरी होता है। ऐसे में यातायात नियमों के विषय को पाठयक्रम में शामिल करके बच्चों से लेकर छात्र-छात्राओं को सड़क चिन्हों की जानकारी दी जाएगी। पहली बार सड़क पर वाहन लेकर उतरने वाले लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस संबंधी जानकारी भी पाठयक्रम में रहेंगी।

एनसीईआरटी से मिलकर पाठयक्रम तैयार किया

परिवहन विभाग के सड़क सुरक्षा सेल के अपर परिवहन आयुक्त गंगा फल बतातें है कि नेशनल काउंसिल ऑफ एजूकेशन रिसर्च एंड ट्रैनिंग (एनसीईआरटी) से मिलकर पाठयक्रम तैयार कर लिया गया है। कोशिश की जा रही है कि पाठयक्रम में हिन्दी और अंग्रेजी के दो पाठ हो। उम्मीद जताई जा रही है कि अप्रैल माह से शुरू हो रहे नए सत्र से यातायात नियमों पर आधारित पाठ को शामिल कर लिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:parivahan