DA Image
19 फरवरी, 2021|1:05|IST

अगली स्टोरी

पेज--4--होटल, मैरिज लॉन का कूड़ा कम होने पर निस्तारण में होगी आसानी

default image

नगर निगम को आदेश का इंतजार, कड़ाई से लागू होगा फैसला

लखनऊ। प्रमुख संवाददाता

पांच हजार वर्ग फुट से ज्यादा बड़े होटल, रेस्तरां, मैरिज लॉन या अन्य व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को अपना कूड़ा खुद निस्तारित करने के शासन के फैसले से शिवरी में बन रहे कूड़े के पहाड़ की ऊंचाई में काफी कमी होने की उम्मीद है। क्योंकि हर दिन लगभग 300 टन कूड़ा कम हो जाएगा। इससे जमा कूड़े के निस्तारण में भी तेजी आएगी।

मौजूदा समय में शहर में हर दिन लगभग 1200 टन कूड़ा निकल रहा है। इसमें लगभग 500 घरेलू, 400 सड़क का कूड़ा व लगभग 300 व्यावसायिक प्रतिष्ठानों का कूड़ा शामिल है। इसमें ज्यादातर हिस्सा बड़े होटल व रेस्टोरेंट या अन्य व्यावसायिक प्रतिष्ठानों का है। शिवरी में कूड़ा निस्ताण की व्यवस्था बेटरी हो चुकी है। कूड़े का पहाड़ बनता जा रहा है। मौजूदा समय में लगभग तीन लाख टन कूड़ा एकत्र हो चुका है। यह कूड़ा नगर निगम के लिए मुसीबत बन चुका है। करीब दो साल पहले एनजीटी की अनुश्रवण समिति ने भी शिवरी में जमा कूड़े को देखकर चेतावनी दी थी। साथ ही निस्तारण का प्लान देने को कहा था लेकिन अब तक न तो कोई प्लान तैयार हो सका और न ही उसके निस्ताण के लिए कोई कदम उठाया जा सका। स्थिति यह है कि कूड़ा से आसपास के लोग पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है।

कम होगा कूड़े का पहाड़

शिवरी में लगे प्लांट की क्षमता 1900 मीट्रिक टन की है। लेकिन यह अभी पूरी क्षमता से नहीं चल पा रहा है। लेकिन माना जा रहा है कि कूड़े की मात्रा 300 मीट्रिक टन तक कम हो गई तो कूड़े का एकत्र हुआ पहाड़ कम करने में तेजी आएगी। हर दिन लगभग 1100 मीट्रिक टन कूड़े का अतिरिक्त निस्तारण हो सकेगा। नगर निगम के अधिकारियों को शासन की नियमावली व आदेश आने का इंतजार है। इसे लागू कराने के लिए रणनीति बनाई जाएगी।

शासन का आदेश आने के बाद ही रणनीति बनाई जाएगी। बड़े संस्थानों से कूड़ा लेना बंद किया जाएगा। उनसे निस्ताण की व्यवस्था का निरीक्षण होगा। व्यवस्था न मिलने पर कड़ी कार्रवाई हो सकती है।

पंकज भूषण, पर्यावरण अभियंता, नगर निगम

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Page - 4 - Reduction of garbage in the hotel marriage lawn ease of disposal