अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अगले वर्ष प्रदेश में 2000 मेगावाट सोलर बिजली उत्पादन

- यूपीपीसीएल 25 वर्षों तक खरीदेगा बिजली

राज्य मुख्यालय- प्रमुख संवाददाता

प्रदेश में सौर ऊर्जा से दो हजार मेगावाट बिजली का उत्पादन अगले वर्ष से शुरू हो जाएगा। इसके लिए 13 कंपनियों ने 1870 मेगावाट सोलर बिजली उत्पादन प्रोजेक्ट शुरू कर दिए हैं।

प्रमुख सचिव अतिरिक्त ऊर्जा आलोक कुमार ने बताया कि सौर ऊर्जा नीति के तहत केवल एक हजार मेगावाट बिजली उत्पादन के लिए कंपनियों को आमंत्रित किया गया था। 13 कंपनियों ने कुल 37 प्रस्ताव दिए हैं। उन्होंने बताया कि इसमें एक्मे सोलर होडिंग ने 300 मेगावाट के छह प्रस्ताव, अज्योर पॉवर इंडिया प्रा. लि. ने 300 मेगावाट के पांच प्रस्ताव, एस्सल इंफ्रापोजेक्टस लि. के 250 मेगावाट के पांच प्रस्ताव, महोबा सोलर यूपी प्रा. लि. के 250 मेगावाट के पांच प्रस्ताव, रिन्यू सोलर पॉवर प्रा. लि. के 280 मेगावाट के छह प्रस्ताव और रिफेक्स इनर्जी राजस्थान प्रा. लि, रेज इंफ्रा प्रा. लि., सुखबीर एग्रो इनर्जी लि. के एक-एक प्रस्ताव 50 मेगावाट क्षमता के होंगे।

प्रमुख सचिव ने कहा कि इन कंपनियों के जरिए उत्पादित सोलर बिजली यूपीपीसीएल खरीदेगी। एक हजार मेगावाट बिजली की खरीद के लिए 25 वर्षों का समझौता किया गया है। प्रदेश सोलर से बिजली पैदा करने के लिए क्षेत्र में एक कदम आगे बढ़ गया। उन्होंने कहा कि इन परियोजनाओं से करीब 5000 करोड़ रुपये का निवेश होगा।

कंपनियों ने अपने प्रोजेक्ट पर काम शुरू कर दिया है। जल्द ही इन कंपनियों की उत्पादित बिजली को ग्रिड पर लेने के लिए ट्रांसमिशन लाइनें भी तैयार हो जाएंगी। अगले वर्ष 2000 मेगावाट तक सोलर बिजली मिलना शुरू हो जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:p