अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली उपभोक्ताओं की सभी परेशानी दूर करेंगे अधीक्षण अभियंता

राज्य मुख्यालय- प्रमुख

बिजली उपभोक्ताओं की समस्याओं के निस्तारण के लिए हेल्प लाइन नम्बर 1912 पर दी गयी सूचना पर अब केवल शिकायत दर्ज ही नहीं होगी बल्कि शिकायत करने वाले की संतुष्टि भी जरूरी होगी। अगर उपभोक्ता को लगता है कि उसकी शिकायत जिस तरह से निस्तारित की गई है वह सही नहीं है और उसने संतुष्टि की बात नहीं कही तो वह शिकायत खत्म नहीं मानी जाएगी। इसके लिए अब सीधे तौर पर अधीक्षण अभियंता जिम्मेदार बनाए गए हैं।

प्रमुख सचिव ऊर्जा आलोक कुमार ने कहा कि 1912 पर दर्ज शिकायतों का निस्तारण और उपभोक्ता की पूरी संतुष्टि जरूरी है। इसलिए सभी एमडी को निर्देशित किया गया है कि जहां भी शिकायतें पेंडिंग हैं वहां के अधिकारियों पर कार्रवाई करें। प्रदेष में बिजली उपभोक्ताओं ने हेल्पलाइन नम्बर 1912 पर एक सितम्बर 2017 से मार्च 2018 तक के बीच 206834 शिकायतें दर्ज कराईं। जिसमें 201814 का समयबद्ध निस्तारण किया गया। केवल 164549 उपभोक्ता कार्रवाई से संतुष्ट नहीं हुए। जो शिकायतें मिलीं उसमें 15 फीसदी में उपभोक्ता अधिकारियों के जवाब से संतुष्ट नहीं हुये। जिससे 28007 शिकायतें दोबारा कार्रवाई के लिए भेजी गयी। अधीक्षण अभियन्ताओं ने मात्र 6231 शिकायतों पर कार्रवाई की। इस दौरान बिल से सम्बन्धित 48468, मीटर से सम्बन्धित 13368, नये कनेक्शन के लिये 6303, बिजली आपूर्ति से सम्बन्धित 83966 और क्षतिग्रस्त ट्रांसफार्मर बदलने के लिये 54729 शिकायतें दर्ज की गयीं।

प्रमुख सचिव ने निर्देश दिया है कि जो अधिकारी या कर्मचारी 1912 पर की गयी शिकायतों का समयबद्ध निस्तारण नहीं कर रहें हैं उनको चिन्हित कर उनपर एक्शन लिया जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:p