ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश लखनऊसंस्थाएं आगे आएं और सीएसआर फंड से करें जनहितकारी कार्य: आनंदी बेन पटेल

संस्थाएं आगे आएं और सीएसआर फंड से करें जनहितकारी कार्य: आनंदी बेन पटेल

-राज्यपाल ने राजभवन से किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय की ‘मोबाइल कैंसर डिटेक्शन यूनिट को...

संस्थाएं आगे आएं और सीएसआर फंड से करें जनहितकारी कार्य: आनंदी बेन पटेल
हिन्दुस्तान टीम,लखनऊFri, 01 Mar 2024 10:50 PM
ऐप पर पढ़ें

-राज्यपाल ने राजभवन से किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय की ‘मोबाइल कैंसर डिटेक्शन यूनिट को फ्लैग ऑफ करके रवाना किया

-यूनिट सभी प्रकार के कैंसर की प्रारम्भिक स्तर पर ही पहचान करने में सक्षम

-घर तक पहुँचने वाली इस सुविधा का लाभ महिलाओं को भी दिलवाएं

मोबाइल यूनिट दूर दराज के ग्रामीण क्षेत्रों में कैंसर नियंत्रण में प्रभावी सिद्ध होगी

कुलपति, प्रो0 सोनिया नित्यानंद

-----

लखनऊ : विशेष संवाददाता

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने महिला स्वास्थ्य को सामाजिक जिम्मेदारी बताते हुए कहा कि जो व्यवस्था दी जा रही है, उसके परिणाम 10 से 15 साल में पता लगेंगे। कैंसर की बीमारी जांच से ही पता चलती है। हमारे देश में महिलाएं अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत नहीं रहती है। ये हम सबकी जिम्मेदारी है कि घर तक पहुँचने वाली इस सुविधा का लाभ महिलाओं को भी दिलवाएं। उन्होंने अपील करते हुए कहा कि ये एक वाहन प्रदेश के 75 जनपदों की आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए कम होगा। संस्थाएं आगे आएं और अपने सीएसआर फण्ड को इस प्रकार के जनहितकारी कार्यों के लिए दें। उन्होंने बेल और सी-डेक को इस कार्य हेतु आभार व्यक्त किया।

प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने शुक्रवार को राजभवन से किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय की ‘मोबाइल कैंसर डिटेक्शन यूनिट को फ्लैग ऑफ कर रवाना किया। सभी प्रकार के कैंसर की प्रारम्भिक स्तर पर ही पहचान करने में सक्षम ये यूनिट बस भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड के सीएसआर फण्ड से अनुदानित है और सी-डेक ने इसका डिजाइन किया है।

इस अवसर पर सम्बोधित करते हुए राज्यपाल जी ने केजीएमयू की कुलपति प्रो. सोनिया नित्यानंद की विशेष सराहना करते हुए कहा कि उन्हीं के प्रयासों से महिलाओं में होने वाले सर्वाइकल कैंसर और उसके निवारण के लिए बालिकाओं को लगाई जानी वाली वैक्सीन की जानकारी प्राप्त हो सकी थी, जिस पर पहली बार अमल करते हए उन्होंने राजभवन की समस्त बालिकाओं को राजभवन व्यय पर वैक्सीन लगवाई। राज्यपाल ने बताया कि महिलाओं में कैंसर रोकथाम में मदद के लिए वैक्सीनेशन के लिए डॉ. राममनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में एक अकाउंट भी बनवाया हुआ है, जिसमें प्राप्त डोनेशन से बालिकाओं का वैक्सीनेशन भी किया गया।

उन्होंने कहा कि किसी भी अन्य व्यय के बजाए वैक्सीनेशन में व्यय करना बहुत जरूरी है। एक महिला की मृत्यु हो जाने से उसका परिवार बर्बाद हो जाता है। उन्होंने केन्द्र सरकार तक इस वैक्सीनेशन के प्रति अपने प्रयासों की जानकारी भी दी, जिससे इस वर्ष के बजट में सर्वाइकल कैंसर से बचाव के लिए वैक्सीनेशन के लिए बजट आवंटित हो सका है।

इस अवसर पर केजीएमयू की कुलपति डॉ. सोनिया नित्यानंद ने मोबाइल यूनिट के शुभारम्भ के लिए राज्यपाल का आभार व्यक्त किया। उन्होंने अपने संबोधन में भारत में कैंसर के बढ़ते रोगियों की संख्या पर चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि अर्ली डिटेक्शन से कैंसर की प्रभावी चिकित्सा सम्भव है, जिसमें आज से संचालित ये मोबाइल यूनिट बड़ा योगदान देगी। यूनिट की सुविधाओं की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि इसमें इलेक्ट्रानिक मेडिकल रिकार्ड सिस्टम और डैशबोर्ड शामिल है। इसमें टेली मेडिसिन और टेली परामर्श से विशेषज्ञ की सलाह ली जा सकती है।

सुविधाओं की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि इसमें डिजिटल एक्स-रे रोगी की सामान्य अवस्था तथा कैंसर की बढ़ी अवस्था का आकलन, हेमेटोलॉजी विश्लेषक से रक्त सम्बन्धित कैंसर के रोगियों की पहचान और उनके इलाज की निगरानी, इम्यूनोलॉजी विश्लेषक, रक्त के नमूनों में विभिन्न बायोमार्कर और ट्यूमर मार्करों की माप, शरीर प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया का आकलन और ट्यूमर की विशिष्ट पहचान से कैंसर का डिटेक्शन, अल्ट्रासाउण्ड स्कैन से स्तन, पेट, प्रजनन अंगों में ट्यूमर की पहचान, ईसीजी मशीन से हृदय स्वास्थ्य का आकलन, प्रारम्भिक कैंसर में क्रायोथेरेपी उपचार, वीडियो कोल्पोस्कोप से सर्वाइकल कैंसर की जाँच और बायोप्सी में मदद मिलेगी। उन्होंने विश्वास जताया कि ये मोबाइल यूनिट दूर दराज के ग्रामीण क्षेत्रों में कैंसर नियंत्रण में प्रभावी सिद्ध होगी। मोबाइल यूनिट हेतु वित्तीय सहायता प्रदान करने वाली संस्था भारत इलेक्ट्रानिक्स लिमिटेड के निदेशक अनिल भानु प्रकाश श्रीवास्तव,ने इस अवसर पर विचार व्यक्त करते हुए कहा कि ये यूनिट निश्चित रूप से दूर दराज के क्षेत्रों में अर्ली कैंसर डिटेक्शन में लाभदायक होगी और लोगों को स्वस्थ जीवन प्रदान करने में सहायक होगी।

इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव राज्यपाल डॉ. सुधीर महादेव बोबडे, केजीएमयू के चिकित्सक एवं शिक्षकगण, बेल एवं सी-डेक के अधिकारी, राजभवन के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें