DA Image
17 जनवरी, 2021|8:13|IST

अगली स्टोरी

सरकारी अस्पतालों में ओपीडी शुरू, मरीजों को राहत

default image

लखनऊ। हिन्दुस्तान टीमलॉकडाउन के बाद गुरुवार से सरकारी अस्पतालों में पूर्व की भांति ओपीडी खुल गईं। मुख्यमंत्री के आदेश के बाद ओपीडी खुलने से मरीजों ने राहत की सांस ली। सामान्य दिनों की तुलना में मरीजों की भीड़ कम रही। बलरामपुर व सिविल में थर्मल स्कैनिंग का इंतजाम नहीं था। डफरिन व भाऊराव देवरस अस्पताल में एहतियात के साथ मरीजों को ओपीडी ब्लॉक में दाखिल होने दिया गया।बलरामपुर अस्पतालसभी विभागों की ओपीडी में मरीजों का इलाज शुरू हो गया है। रेडियोलॉजी, पैथोलॉजी की जांच भी हो रही है। काउंटर पर मरीजों को मुफ्त दवाएं भी उपलब्ध कराई जा रही हैं। ओपीडी में थर्मल स्कैनिंग का इंतजाम नहीं था। मरीज बेरोक-टोक ओपीडी में जा रहे थे। सुरक्षा गार्डों ने सोशल डिस्टैंसिंग का पालन कराते नजर आए। अस्पताल के निदेशक डॉ. राजीव लोचन ने ओपीडी समेत अन्य वार्डो का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि बारिश की वजह से मरीजों का दबाव कम था। कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराया जा रहा है।सिविल अस्पतालसुबह आठ बजे से ओपीडी खुल गई। बारिश की वजह से ओपीडी में सन्नाटा था। बारिश थमने के बाद मरीज अस्पताल आए। पर्चा व दवा काउंटर पर सोशल डिस्टैंसिंग का लोग पालन करते नजर आए। अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. आशुतोष दुबे के मुताबिक सामान्य दिनों की तुलना में ओपीडी में 50 फीसदी से भी कम मरीज पहुंचे।भाउराव देवरस अस्पतालसुबह आठ बजे से ओपीडी खुली। डॉक्टर तय समय पर अपने कमरे में बैठे थे। नेत्र, मेडिसिन व हड्डी रोग विभाग की ओपीडी में ज्यादा मरीज दिखे। सभी मरीजों को मास्क लगाकर ही ओपीडी में दाखिल होने की हिदायत दी जा रही थी। सोशल डिस्टैंसिंग का भी पालन कराया जा रहा था। सीएमएस डॉ. आरसी मिश्र के मुताबिक करीब 633 मरीज ओपीडी में पहुंचे। पैथोलॉजी, एक्सरे और अल्ट्रासाउंड जांच भी जरूरी मरीजों की कराई गई।रानी लक्ष्मीबाई अस्पतालओपीडी खुलने से राजाजीपुरम समेत आस-पास इलाकों के मरीजों ने राहत की सांस ली। सबसे ज्यादा मेडिसिन, पीडियाट्रिक व नेत्र रोग विभाग में मरीजों का दबाव दिखा। सीएमएस डॉ. एके आर्या के मुताबिक ओपीडी में 515 मरीजों को इलाज मुहैया कराया गया। सभी तरह की जांचें और दवाएं मरीजों को उपलब्ध कराई गईं। उन्होंने बताया कि इमरजेंसी सेवाएं और महिला रोग विभाग की इमरजेंसी 24 घंटे चल रही है। कोरोना जांच के नमूने भी लिए जा रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्र के मरीजों को भी राहतसीएमओ डॉ. आरपी सिंह के मुताबिक सभी नौ सीएचसी व 28 पीएचसी में ओपीडी चालू हैं। मरीज सुबह आठ से दो बजे तक इलाज हासिल कर सकते हैं। डॉक्टर की सलाह पर पैथोलॉजी व रेडियोलॉजी की जांच भी हो रही हैं। लक्षण नजर आने पर कोरोना की जांच भी हो रही है। अबर्न पीएचसी में भी ओपीडी चालू हैं। पहले दिन काफी संख्या में मरीज इलाज के लिए पहुंचे। मरीजों को डॉक्टर की सलाह के साथ मुफ्त दवाएं और जांच की सुविधा भी मुहैया कराई गई। इन अस्पतालों में करीब तीन हजार से ज्यादा मरीज ओपीडी में पहुंचे।-डफरिन और झलकारी बाई अस्पताल में पहले से ओपीडी चल रही है। डफरिन अस्पताल में थर्मल स्कैनर से तापमान नापने के बाद ही प्रसूताओं व उनके तीमारदारों को प्रवेश दिया जा रहा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:OPD started in government hospitals relief to patients