DA Image
22 सितम्बर, 2020|12:52|IST

अगली स्टोरी

महोत्सवों के बजट से होंगे आनलाइन सांस्कृतिक कार्यक्रम

default image

-इन कार्यक्रमों का मानदेय देकर आर्थिक संकट से जूझ रहे कलाकारों को दी जाएगी मदद-यूपी कलाकार एसोसिएशन ने भी उठायी मांग विशेष संवाददाता--राज्य मुख्यालयकोरोना संकट में सार्वजनिक कार्यक्रम न होने की वजह से आर्थिक दुश्वारियों की मदद करने के लिए संस्कृति विभाग ने एक प्रस्ताव तैयार किया है। प्रस्ताव के तहत अब महोत्सवों में होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रमों के बजट से आनलाइन सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इन आनलाइन कार्यक्रमों में प्रस्तुतियां देने वाले कलाकारों व उनके संगतकारों को मानदेय का भुगतान महोत्सवों के बजट से ही किया जाएगा। कोरोना संकट की वजह से इस साल ताज महोत्सव, लखनऊ महोत्सव, गंगा महोत्सव, झांसी महोत्सव, बिठुर महोत्सव आदि के आयोजन नहीं हो पाएंगे। प्रदेश के संस्कृति मंत्री डा. नीलकंठ तिवारी ने विभागीय कामकाज की समीक्षा बैठकों में कोरोना काल में आर्थिक संकट का सामना कर रहे कलाकारों को आनलाइन कार्यक्रम कर मदद करने के निर्देश दिए हैं। उधर, यूपी कलाकार एसोसिएशन ने संस्कृति निदेशक शिशिर को इस बाबत पत्र भी लिखा है। इस पत्र में कोरोना संकट की वजह से सभी सांस्कृतिक आयोजन ठप हैं। साथ ही फिल्म और टेलीविजन कार्यक्रमों का निर्माण भी बंद है। मुम्बई में फिल्म व टीवी कार्यक्रमों के निर्माण में लगे यूपी के कलाकार व टेक्निशियन बेरोजगार हो चुके हैं। उनके सामने अब आजीविका चलाने का संकट गहराता जा रहा है। ऐसे में उत्तर प्रदेश सरकार इन कलाकारों की मदद के लिए जल्द ही कोई ठोस कदम उठाए। एसोसिएशन के सचिव विनोद मिश्र ने उ.प्र.फिल्म विकास परिषद के चेयरमैन व जाने-माने हास्य कलाकार राजू श्रीवास्तव को भी एक पत्र लिखा था। जिसके जवाब में राजू श्रीवास्तव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर जरूरतमंद कलाकारों व टेक्निशियन को आर्थिक मदद देने की मांग उठाई है। संस्कृति विभाग द्वारा आनलाइन सांस्कृतिक कार्यक्रम कर कलाकरों को मानदेय देकर उनकी मदद देने के प्रस्ताव पर विनोद मिश्र ने कहा कि संस्कृति विभाग के पास कलाकारों, टेक्निशियन की सीमित जानकारी है। विभाग के पास सिर्फ उन्हीं कलाकारों की सूची है, जिन्हें विभाग महोत्सवों व अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों में बुलाता रहा है। तीन दशक पुरानी संस्था यूपी कलाकार एसोसिएशन के पास पूरे प्रदेश के कलाकारों व संगतकर्ताओं का ब्यौरा है। इसलिए प्रदेश सरकार कलाकारों की आर्थिक मदद में कलाकारों के संगठन का परामर्श लेना चाहिए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Online cultural programs will be held from the budget of the festival