nursing - समर्पण और त्याग है नर्सिंग सेवा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

समर्पण और त्याग है नर्सिंग सेवा

- विवेकानंद कॉलेज व स्कूल ऑफ नर्सिंग की छात्राओं का शपथ ग्रहण समारोह हुआ लखनऊ। निज संवाददाता विवेकानंद कॉलेज व स्कूल ऑफ नर्सिंग के बीएससी नर्सिंग के 14वें सत्र और जीएनएम के 28वें सत्र के प्रथम वर्ष की छात्राओं का शपथ ग्रहण समारोह रविवार को मना। विवेकानंद पॉलीक्लीनिक एवं आयुर्विज्ञान संस्थान परिसर में समारोह का मुख्य अतिथि रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम, कनखल के सचिव स्वामी नित्यसुद्धानंद रहे। नर्सिंग सेवा अस्पताल की रीढ़कहा कि नर्सिंग पेशे में 24 घंटे त्याग की भावना, समर्पण, समझदारी और निस्वार्थ सेवा की मांग है। नर्सिंग व्यवसाय को स्वेच्छा से चुनने के लिए विद्यार्थियों की सराहना की। नर्सिंग सेवा किसी भी अस्पताल की रीढ़ की हड्डी होती है। उन्होंने कहा कि नर्स न केवल नर्सिंग कौशल सीखती हैं, बल्कि मरीजों के दर्द को अपने दिल से महसूस कर उसे दूर करने की पूरी कोशिश करती हैं, ताकि उनके कष्ट को कम किया जा सके। विशिष्ठ अतिथि कॉलेज ऑफ नर्सिंग, कमांड हॉस्पिटल, सेंट्रल कमांड की प्रधानाचार्या कर्नल एलिजाबेथ एम. वर्गीस रहीं। लोगों के चेहरे पर लाएंगी मुस्कुराहटविवेकानंद संस्थान के सचिव स्वामी मुक्तिनाथानंद ने कहा कि आज 50 बीएससी नर्सिंग व 20 जीएनएम प्रथम वर्ष की छात्राएं त्याग और सेवा के लिए शपथ ले रही हैं। उससे न केवल उनका ही जीवन चमकेगा बल्कि वह बहुत लोगों के अंधेरे जीवन में उजाला और मुस्कुराहट लाएंगी। मेधावी छात्राओं को मेडल, पुस्तक व नगद धनराशि, प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में प्रधानाचार्या चांदनी त्यागी, उपप्रधानाचार्य आर. सुथा, आयुर्वेद डॉ. विजय सेठ समेत अन्य प्रमुख लोग मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:nursing