nursing - एम्स ने बदली नर्सिग भर्ती में अहर्ता DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एम्स ने बदली नर्सिग भर्ती में अहर्ता

ऑल इंडिया नर्सिंग एसोसिएशन के दखल के बाद जीएनएम भी मानी गयी पात्रनिज संवाददाता। लखनऊएम्स ने नर्सिंग पद के लिए नियमों को दरकिनार कर योग्यता तय की थी । जिसमें केवल बीएससी नर्सिग को ही पात्र माना गया था। जिसका अाल इंडिया नर्सिग एसोसिएशन ने विरोध किया था। भारी विरोध के बाद एम्स रायपुर ने जीएनएम को भी शामिल करना पड़ा। अाल इंडिया नर्सेज एसोसिएशन और टीएनअई के अजय कुमार सिंह, सुनीत रूप का कहना है कि एसोसिएशन ने मंत्रालय को ज्ञापन दिया था। साथ ही सेंट्रल एडमिनिस्ट्रेटिव ट्रिब्यूनल में अपील की थी। जिसमें देश की सभी जीएनएम को नर्स के योग्य माना गया लेकिन एम्स ऋषिकेश, रायपुर और भुवनेश्वर ने हाल में जो जगह निकाली उसमें नर्स के लिए सिर्फ बीएससी नर्सिग को ही पात्र माना था। पीजीआई ने भी हाल में संविदा पर तैनाती के समय पहले केवल बीएससी नर्सिग को प्राथमिकता देने को कहा जो गलत है। नर्सेज सेवा के लिए जीएनएम ही असली योग्याता है । बीएसएसी या एमएससी यह एकेडमिक योग्यता है। जीएनएम केवल नर्स ही बन सकती है लेकिन बीएससी या एमएससी शिक्षक भी बन सकती है। लिहाज जीएनएम को ही इस सेवा में प्राथमिकता दी जाए। इस बदलाव के बाद प्रदेश की जीएनएम धारक इन पदों के लिए अावेदन कर सकेंगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:nursing