DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चाय पर नहीं अब सच्चाई पर चर्चा होनी चाहिए: अखिलेश

प्रमुख संवाददाता - राज्य मुख्यालय

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि अब समय आ गया है कि सच्चाई पर चर्चा होनी चाहिए कि चार वर्ष केंद्र और एक वर्ष से राज्य में सत्तारूढ़ भाजपा सरकारों ने जनकल्याण के कौन से काम किए हैं। डबल इंजन की सरकारों ने इन पांच वर्षों में सिर्फ चाय पर चर्चा की है। अब चाय पर नहीं सच्चाई पर चर्चा होनी चाहिए कि देश व राज्य की इतनी दुर्दशा कैसे हो गई।

उन्होंने कहा कि स्थिति यह है कि समाज का हर वर्ग पीड़ित और आक्रोशित है। कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब है। किसान आत्महत्या करने पर मजबूर हैं। महिलाओं और बच्चियों तक की इज्जत सुरक्षित नहीं है। व्यापारी, अधिवक्ता, शिक्षक सभी परेशान हैं। चुनाव के समय भाजपा ने जो वादे किए थे उन्हें भुला दिया गया। भाजपा सरकार सच्चाई का सामना करने से कतरा रही है। भाजपा राज में देश-प्रदेश पांच साल पीछे चला गया। मंहगाई पर रोक नहीं लगी है। जनता की गाढ़ी कमाई पूंजी घराने लूट रहे हैं।

अखिलेश ने कहा कि भाजपा की नीतियां कारपोरेट घरानों के हित में है। इनकी नीयत गरीबों की भलाई करने की नहीं है। नौजवान बेरोजगारी के शिकार हैं। उन्हें रोजगार देने के दावे झूठे साबित हुए हैं। छोटे उद्योग धंधे बंद हो रहे हैं। देश के एक प्रतिशत के पास 73 फीसदी संपत्ति हैं। भाजपा की नीतियों से आर्थिक-सामाजिक गैर-बराबरी बढ़ी है। भाजपा सरकारों की गलत नीतियों से प्रदेश में तमाम विषमताएं पैदा हो गई हैं। समाजवादी सरकार के कार्यकाल की योजनाओं का पुनः उद्घाटन किया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Now there should be discussion on the reality of tea: Akhilesh