DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब पूर्वांचल के जिलों में महक बिखेरेगी लीची

अब पूर्वांचल के जिलों में भी बिखेरगी लीची की महक

आय बढ़ाने की योजना

कृषि विवि के कुलपति किसानों को लीची की खेती के लिए करेंगे प्रेरित

मुजफ्फरपुर के भारतीय लीची अनुसंधान केंद्र से मांगा गया सहयोग

फैजाबाद हिन्दुस्तान संवाद

नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय कुमारगंज, फैजाबाद के कार्यक्षेत्र में आने वाले पूर्वांचल के किसानों को लीची की खेती करने के लिए प्रेरित किया जाएगा। लीची की खेती करने की तकनीक विश्वविद्यालय की ओर से सिखाई जाएगी।

लीची की खेती के लिए उपयुक्त जलवायु तथा भौगोलिक स्थितियों का ज्ञान किसानों को दिया जाएगा। बिहार के सीमावर्ती जनपदों में लीची की खेती को बढ़ावा देने के लिए विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. जेएस संधू रुचि ले रहे हैं। इसीलिए उन्होंने मुजफ्फरपुर, बिहार में स्थित भारतीय लीची अनुसंधान संस्थान का दौरा कर वहां के वैज्ञानिकों से सहयोग मांगा है।

बिहार के संस्थान का दौरा कर लौटे कुलपति प्रो. संधू ने बताया कि लीची की खेती को बढ़ावा देने से किसानों की आय में वृद्धि सम्भव है। प्रो. संधू ने बताया कि भारतीय लीची अनुसंधान सन्स्थान के निदेशक डॉ. विशाल नाथ पांडेय इसी कृषि विश्वविद्यालय के छात्र रहे हैं। उन्होंने लीची की खेती को बढ़ावा देने में पूरा सहयोग करने का आश्वासन दिया है।

कुलपति प्रो. संधू विश्वविद्यालय के कार्यक्षेत्र में आने वाले जनपदों के किसानों को अच्छे उत्पादन वाली लीची की प्रजातियों के पौध कृषि विज्ञान केंद्रों के माध्यम से उपलब्ध कराने की योजना बना रहे हैं। उन्होंने बताया कि जब तक अपने कार्यक्षेत्र के जनपदों में बेहतर उत्पादन वाले खाद्यान्न, सब्जियों,फल व फूल की फसलों को चिह्नित कर उनकी खेती को बढ़ावा नही देंगे तब तक किसानों की आय बढ़ाने की योजना पूरी तरह से सफल नहीं होगी।

इन जिलों में लगाये जाएंगे लीची के पौधे-------------

लखनऊ, वाराणसी, गोरखपुर, बस्ती, बहराइच, गोण्डा, फैजाबाद, अम्बेडकरनगर, सुलतानपुर, रायबरेली, सीतापुर, बाराबंकी सहित 26 जिले विश्वविद्यालय के कार्यक्षेत्र में शामिल हैं।

गोरखपुर, वाराणसी, फैजाबाद

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Now the lichi fruit spread in the districts of Purvanchal