DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी में अब भवनों का नक्शा पास कराना हो गया सस्ता 

प्रदेश में भवन निर्माण का नक्शा पास कराना काफी सस्ता व आसान हो गया है। शासन ने नक्शा पास करने की दरों में भारी कमी कर दी है। ये दरें आधी के आसपास पहुंच गई हैं। साथ ही आनलाइन नक्शा पास कराना और सरल कर दिया है।

लोग घर बैठे अपने मकान, दुकान, कॉम्प्लेक्स, होटल, मॉल व मल्टीप्लेक्स का नक्शा पास करा सकेंगे। नक्शा पास करने की समय सीमा भी निर्धारित कर दी गयी है। विशेष सचिव आवास माला श्रीवास्तव ने 20 जून को इसका आदेश जारी किया। 

अभी तक प्रदेश के विभिन्न प्राधिकरणों में नक्शा पास करने के लिए अलग-अलग फीस ली जाती थी। आवास विकास परिषद अपनी योजनाओं में अलग फीस लेती थी। अब शासन ने सभी विकास प्राधिकरणों व आवास विकास परिषद के लिए एक समान शुल्क निर्धारित कर दिया है। इससे बड़े मकानों और ग्रुप हाउसिंग का नक्शा पास कराने वालों को काफी फायदा होगा। नयी कालोनियां विकसित करने वाले बिल्डरों को भी फायदा पहुंचेगा। इससे उनके मकान सस्ते होंगे। इस शासनादेश के साथ ही लखनऊ विकास प्राधिकरण में नक्शा पास करने की दरें आधे से कम हो गयी हैं। 

व्यावसायिक में लगभग आधी हो जाएंगी दरें
फैसले से व्यावसायिक नक्शों के शुल्क में भी कमी आएगी। ग्रुप हाउसिंग के नक्शे भी पहले की तुलना में लगभग आधे में पास होंगे। एलडीए के इंजीनियर ने बताया पहले 1000 वर्ग मी. के जिस व्यावसायिक भूखंड का नक्शा पास करने के लिए करीब सात लाख रुपए लगता था वहीं अब यह  साढ़े तीन लाख रुपए के करीब होगा। 

जहां 45000 लगते थे वहां अब 30000 रुपये लगेंगे
3000 वर्ग फुट के प्लॉट पर एक मंजिल का मकान बनाने के लिए पहले लोगों को जहां नक्शा पास करने का शुल्क 45 हजार रुपये देने पड़ते थे, वहीं अब करीब 30000 रुपये देने होंगे। आम आदमी को करीब 15000 रुपये का फायदा होगा। व्यावसायिक भूखंडों के लिए यह दर आधी से भी कम हो गई है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Now the cost of buildings map is cheap in UP