DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब सोहेलवा वन क्षेत्र नहीं सुहेलदेव वन्य जीव विहार कहिए जनाब

सोहेलवा सुरक्षित वन क्षेत्र को ईको टूरिज्म के रूप में विकसित करने का सपना साकार होता दिख रहा है। सब कुछ ठीक रहा तो जल्दी ही सोहेलवा में देशी विदेशी मेहमानों की चहलकदमी शुरू हो जाएगी। जिन्हें रुकने के लिए ग्राम पंचायत भवनों में सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध करायी जाएंगी। वहीं सोहेलवा वन क्षेत्र को अब सुहेलदेव वन्य जीव विहार का नाम दिया गया है। 
सोहेलवा वन क्षेत्र को पर्यटन स्थल बनाने के लिए काफी अरसे से मांग की जाती रही है। वन प्रेमी निहारिका सिंह ने इसके लिए जन आंदोलन भी चलाया था। वर्षों पुरानी मांग को केन्द्र सरकार ने मंजूरी दे दी है। इसके तहत सोहेलवा वन क्षेत्र को पर्यटन के रूप में विकसित किया जाएगा। इसके लिए पर्यटकों के बैठने के लिए वन क्षेत्र में जगह जगह सीमेंट के बेंच बनवाए जाएंगे। वहीं देशी विदेशी मेहमानों को आकर्षित करने के लिए वन क्षेत्र में छोटे छोटे पार्क और जलाशय भी बनवाए जाएंगे। सुहेलदेव वन्य जीव विहार के नाम से विकसित होने वाले सोहेलवा जंगल में मंगल करने के लिए ब्लाक सभागार सिरसिया में ईको टूरिज्म की बैठक की गई। जिसकी अध्यक्षता जिलाधिकारी दीपक मीणा ने की। जिलाधिकारी ने सुहेलदेव वन्य जीव विहार के विकास के लिए जल्द ही काम शुरू करने का निर्देश दिया। इस बैठक में सीडीओ, डीएफओ, एसएसबी कमांडेन्ट, परियोजना निदेशक, अधिशाषी अभियंता चित्तौड़गढ़ बांध, वन क्षेत्राधिकारी सोहेलवा पूर्वी व पश्चिमी, वन प्रेमी निहारिका सिंह, राजेन्द्र पासवान, दयानंद, राजू गौतम आदि लोग मौजूद रहे।
यहां बनेंगे देशी विदेशी मेहमानों के रुकने के लिए भवन
श्रावस्ती के सुहेलदेव वन्य जीव विहार में देशी विदेशी मेहमानों के रुकने का भी स्थान मनाया जाएगा। इसके पहले चरण में सिरसिया की ग्राम पंचायत गब्बापुर, पटखौली और लालपुर कुसमहवा के पंचायत भवनों को विकसित करके अंतर्राष्ट्रीय स्तर का बनाया जाएगा। जहां मेहमानों के लिए जरूरी संसाधन मुहैया कराए जाएंगे। इसके अलावा जंगल के उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए बाजारों का भी निर्माण कराया जाएगा। जहां पर लोग आसानी ने अपने उत्पाद बेच सकेंगे। सभागार में आयोजित कार्यक्रम में जंगल के करीब रहने वाले लोगों ने अपने उत्पाद गौरैया का घोसला, बेंत की कुर्सियां, रंग बिरंगी टोकरियां आदि का प्रदर्शन भी किया। जिसको सराहा गया। वहीं कुछ लोगों ने खरीदारी भी की।

 


 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Now Sohlawa forest area is Suheldev wildlife vihara janab