अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संसद का ज्ञान नहीं और पीएम का सपना:राजनाथ

भाजपा प्रदेश कार्य समिति की शनिवार को मेरठ में शुरू हुई बैठक में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कांग्रेस को निशाने पर रखा। उन्होंने कहा कि 2014 की तरह केंद्र में सत्ता का एक्सप्रेस-वे इस बार भी यूपी से होकर जाएगा। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गले लगाने की घटना पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि जिसे संसद जैसी संस्था की मर्यादा का ज्ञान नहीं है, वह देश का पीएम बनने का स्वप्न देख रहा है। 
    श्री सिंह सुभारती विश्वविद्यालय में शहीद मातादीन वाल्मीकि सभागार में भाजपा कार्यसमिति के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे। उद्घाटन सत्र को मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डा. महेंद्र नाथ पांडे ने भी संबोधित किया। राजनाथ सिंह ने कांग्रेस को लेकर कहा कि 2004 से 2014 तक सत्ता में रहने के बाद कांग्रेस की हांडी खूब चढ़ा ली, अब यह दोबारा नहीं चढ़ेगी। उन्होंने कहा कि पिछले चार साल में देश की अर्थव्यवस्था विश्व में सबसे तेजी से बढ़ रही है। यही हाल रहा तो भारत अर्थव्यवस्था के मामले में विश्व में पांचवें स्थान पर पहुंच जाएगा। ऐसे नेतृत्व के खिलाफ कांग्रेस अविश्वास प्रस्ताव लाई, जिसमें उसे मुंह की खानी पड़ी। जिस प्रकार से देश की जनता मोदी को प्यार करती है, उसी प्रकार से कांग्रेस अध्यक्ष को मोदी जी पर प्यार आ गया और वह अपने आसन से उठकर उनके गले लगने चले गए और फिर चिपको अभियान शुरू कर दिया। उन्होंने कहा कि राहुल के इस चिपको अभियान को देश की जनता भी 
नहीं भूलेगी। 
  सत्ता मिले या नहीं मिले, देश को नहीं बंटने देंगे
राजनाथ ने विपक्षी दलों को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि पीएम मोदी की वजह से विदेशों में भारत का सम्मान बढ़ा है। जिसके नेतृत्व में विश्व की नजरों में भारत योग्य देश बन रहा है, उसी नरेंद्र मोदी को हटाने और सत्ता हासिल करने के लिए जाति-पंथ और मजहब के आधार पर देश को बांटने की कोशिश की जा रही है। वह भी सिर्फ सत्ता हासिल करने के लिए, सत्ता हासिल हो या न हो लेकिन भाजपा देश का बटवारा नहीं होने देगी। कहा, भाजपा परिवारवाद पर आधारित कोई राजनीतिक उद्यम नहीं है। भाजपा एक राजनीतिक पार्टी है, जहां पर कार्यकर्ताओं का सम्मान ही सब कुछ होता है। भाजपा की विचारधारा है। उन्होंने कार्यकर्ताओं का आह्वान 
करते हुए कहा कि वह याचक नहीं दाता बनें। आपकी वजह से हम सरकार में बैठे हैं। आपको भी मौके मिलेंगे, इसलिए आप 73 से भी बेहतर करने का संकल्प लेकर लोकसभा चुनाव में 
जुट जाइए। 
आतंकियों को जवाब के लिए सेना को पूरी छूट
मेरठ। कश्मीर मुद्दे पर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि हमारी सेना के हाथों रोज तीन से सात आतंवादी मारे जा रहे हैं। कश्मीर में लड़कों को गुमराह करके आतंवादी बनाने की कोशिश की जा रही थी, अब कश्मीरी युवा भी ज्यादा गुमराह नहीं हो रहे हैं। सेना को हमने खुली छूट दे दी है कि वह आतंकवाद से निपटने के लिए कहीं भी जा सकती है। उनके हाथ सरकार ने बांध कर नहीं रखे हैं। 
   उन्होंने एनआरसी पर विपक्षी दलों की आलोचनाओं को बेवजह बताते हुए कहा कि हर देश को यह अधिकार होता है कि वह अपने देश में यह जाने कि उसके यहां कौन देसी है और कौन विदेशी। क्या यह अधिकार भारत को नहीं है। अगर हमने यह काम किया तो क्या गुनाह कर दिया। पिछली सरकारों ने इस मामले को दबाए रखा था। हम सुप्रीम कोर्ट की गाइड लाइन का ही पालन कर रहे हैं। नक्सलवाद को लेकर उन्होंने कहा कि मोदी के चार साल के कार्यकाल में नक्सलवाद 135 जिलों से सिमट कर अब आठ-नौ जिलों में ही रह गया है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:No knowledge of Parliament and dream of PM: Rajnath