अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिना घूस के अफसर को नहीं मिला आवास, आरएसए से रिपोर्ट तलब

विशेष संवाददाता - राज्य मुख्यालय

विभागाध्यक्ष स्तर के एक अधिकारी द्वारा राज्य संपत्ति विभाग में बिना घूस के आवास नहीं मिलने का आरोप लगाए जाने से हड़कंप मच गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले को गंभीरता से लिया और उनके निर्देश पर उनके विशेष सचिव शुभ्रांत कुमार शुक्ला द्वारा राज्य संपत्ति अधिकारी योगेश कुमार शुक्ला से इस पूरे मामले की रिपोर्ट तलब की गई है।

यूपी राज्य संग्रहालय के निदेशालय के निदेशक (विभागाध्यक्ष) डा. आनंद कुमार सिंह ने मुख्यमंत्री से अपनी शिकायत में कहा कि उनको मार्च 2018 में पहली बार डालीबाग में आवास आवंटित किया गया। इसके बाद परिवर्तन के स्वरूप बटलर पैलेस में आवास आवंटित किया गया। लेकिन 18 दिन बाद यह आवास अनुमन्यता श्रेणी टाइप फोर से ज्यादा टाइप फाइव होने के कारण निरस्त कर दिया गया। किंतु उसके स्थान पर उनको कोई आवास आवंटित नहीं किया गया।

इस सारी स्थिति से उन्होंने स्वयं मिलकर राज्य संपत्ति अधिकारी को अवगत कराया था। राज्य संपत्ति अधिकारी ने अनुभाग-2 के अनुभाग अधिकारी महेंद्र वर्मा और समीक्षा अधिकारी सुशील त्रिपाठी को परिवर्तित आवास आवंटित करने के निर्देश दिए। श्री सिंह ने आरोप लगाया है कि लेकिन सुविधा शुल्क के अभाव में कई बार दौड़ने के बाद अगस्त में उनको कहा गया कि वे आनलाइन आवेदन करें। एक माह बाद हर हाल में उनको आवास मिल जाएगा। पांच अगस्त को उन्होंने आन लाइन आवेदन किया था। लेकिन एक माह बीतने के बावजूद परिणाम शून्य है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:NO HOUSE FOR DIRECTOR