DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मानक के विपरीत पैसा लेकर दिया कनेक्शन विभाग ने काटा

निजी कम्पनी के ठेकेदार के कर्मचारी ने बिना बिजली विभाग के कर्मचारियों से सर्वे कराये दस हजार रुपये लेकर मानक के विपरीत कनेक्शन दे दिया। बिजली विभाग को भनक लगी तो चार दिन बाद कनेक्शन काट दिया और केबिल लेकर चले गये। अब बुजुर्ग अपना रुपया या कनेक्शन पाने के लिए अधिशाषी अभियंता कार्यालय के चक्कर लगा रहा है।

दुबग्गा में रहने वाले अनवर महमूद रेलवे विभाग से रिटायर्ट कर्मचारी है। उन्होंने मोहनलालगंज में एक प्लाट खरीद कर मकान बनाया। बिजली का खम्भा 200 मीटर से अधिक दूरी व अविकसित कालोनी में मकान होने के चलते बिजली कनेक्शन नही हो रहा था। इसी बीच सौभाग्य योजना से बिजली कनेक्शन दे रहे एक ठेकेदार के कर्मचारी ने दस हजार रुपये में कनेक्शन देने की बात कह कर रुपये ले लिए। बुजुर्ग पांच हजार रुपये का केबल खरीद कर लाया। कर्मचारी ने दस हजार रुपये लेकर नया मीटर लगाकर 25 अगस्त को कनेक्शन चालू कर दिया। इसी बीच बिजली विभाग को भनक लगी तो अधिकारी मौके पर पहुंचे और कनेक्शन काट दिया। हजारो रुपये कीमती केबिल व मीटर उठा ले गये।

पैसे वापस पाने के लिए लगा रहा चक्कर

अनवर ने बताया कि उन्होने अपनी पत्नी नयमुन निशा के नाम से कनेक्शन लिया था। कनेक्शन कटने के बाद जिस कर्मचारी ने पैसा लिया था उसे फोन किया तो उसने पैसा वापस करने की बात कही, लेकिन उसके बाद टाल मटोल करने लगा। अनवर ने पूरे मामले में अधिशाषी अभियंता आरएन वर्मा से शिकायत की। पैसा लेने वाला बीते तीन दिनों से प्रतिदिन पैसा वापस करने की बात कह कर अधिशाषी अभियंता के दफ्तर बुलाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:news