DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कामकाज--टीजी-2 कर्मचारियों से मीटर रीडिंग कराने की मांग

- राज्य विद्युत परिषद प्राविधिक कर्मचारी संघ ने कॉरपोरेशन प्रबंध को पत्र लिखकर मांग की

- पावर कॉरपोरेशन निजी एजेंसी को करीब 10 रुपये प्रति बिल भुगतान करना है

लखनऊ। कार्यालय संवाददाता

राज्य विद्युत परिषद प्राविधिक कर्मचारी संघ ने पावर कॉरपोरेशन प्रबंध से टीजी-2 कर्मचारियों से उपभोक्ताओं के घरों की मीटर रीडिंग व बिल वितरण का कार्य कराने की मांग की है।

संघ के उपमहासचिव मो. वसीम ने बताया कि प्रदेश के अधिकतर महानगरों व नगरों में मीटर रीडिंग का कार्य निजी एजेंसियों द्वारा कराया जाता है। जिसके लिए निजी एजेंसी को करीब 10 रुपये प्रति बिल के अनुसार निगम द्वारा भुगतान किया जाता है। उन्होंने कहा कि निजी एजेंसी के कर्मचारियों के पास न तो तकनीकी योग्यता होती है और न ही निगम हित में प्राथमिकता व निगम के प्रति कोई जवाबदेही होती है। निजी एजेंसी के कर्मचारी सदैव एजेंसी हित व स्वार्थ को ध्यान में रखकर कार्य किया जाता है। जिस कारण निगम को अनावश्यक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि निगम के पास टीजी-2 कर्मचारियों की पर्याप्त संख्या है। टीजी-2 कर्मचारियों का मूल कार्य मीटर रीडिंग, बिल वितरण करना और राजस्व वसूली में सहयोग करना, विद्युत चोरी रोकना व निगम अधिकारियों को आवश्यक सूचना उपलब्ध कराना होता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:news