DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कामकाज-- रिटायर्ड बिजलीकर्मियों को पूर्व की भांति विभाग से मिले पेंशन

- समस्याओं का निस्तारण न होने पर शक्ति भवन का घेराव करेंगे सेवानिवृत्त कर्मचारी

लखनऊ। कार्यालय संवाददाता

उत्तर प्रदेश बिजली मजदूर संगठन ने बुधवार को मध्यांचल विद्युत वितरण निगम कार्यालय में बैठक की। संगठन के महामंत्री सुहेल आबिद ने कहा कि पावर कॉरपोरेशन ने एक जनवरी 2018 से सेवानिवृत्त अधिकारियों व समूह-ग तक के कर्मचारियों के पेंशनर व पारिवारिक पेंशन, ग्रेच्युटी, पारिवारिक पेंशन एवं राशिकरण का पुनरीक्षण पेंशन निदेशालय द्वारा निर्गत किये जाने का प्राविधान किया है, लेकिन पेंशन निदेशालय द्वारा कॉरपोरेशन को अवगत कराया गया है कि स्टाफ की कमी के कारण विद्युत उद्योग के पेंशनरों का प्रकरण निदेशालय द्वारा किया जाना सम्भव नहीं है। नतीजतन पिछले पांच महीने से सेवानिवृत्त कर्मचारियों का प्रकरण अधर में लटका हुआ है।

उन्होंने कहा कि एक जनवरी 2018 से सेवानिवृत्त अधिकारियों, कर्मचारियों व उनके परिवार के सदस्यों के भरण-पोषण के लाले पड़ गये है। जबकि समूह-घ के कर्मचारियों का पेंशन प्रकरण पूर्व की भांति विभाग द्वारा ही किया जा रहा है। ऐसे में अधिकारियों, कर्मचारियों जो एक जनवरी 2018 से सेवानिवृत्त हो चुके है। उनको अभी तक उनका नैवृत्तिक लाभ नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने ऊर्जामंत्री से कर्मचारियों के नैवृतिक लाभ तथा पेंशन पूर्व की भांति विभाग द्वारा करने की मांग की, जिससे सेवानिवृत्त कर्मचारियों को राहत मिल सके। उन्होंने पावर कॉरपोरेशन प्रबंधन को चेतावनी दी है कि यदि 15 दिन के अन्दर सेवानिवृत्त कर्मचारियों की समस्याओं का निस्तारण नहीं किया गया तो संगठन शक्ति भवन का घेराव किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:news