class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टांकों से खून के रिसाव के बाद प्रसूता की हालत नाजुक

-केजीएमयू ट्रॉमा सेंटर में वेंटिलेटर पर भर्ती

लखनऊ। कार्यालय संवाददाता

इंदिरानगर बाल महिला चिकित्सालय (बीएमसी) में प्रसव के बाद टांकों से खून का रिसाव होने से प्रसूता की हालत गंभीर हो गई। प्रसूता को गंभीर हाल में केजीएमयू ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया। महिला का इलाज वेंटिलेटर पर चल रहा है। अब तक आठ यूनिट खून प्रसूता को चढ़ाया जा चुका है। परिवारीजनों ने प्रसव व टांके लगाने में कोताही का आरोप लगाया है। परिवारीजनों ने स्वास्थ्य मंत्री और सीएमओ से शिकायत की बात कही है।

अलीगंज स्थित पांडेय टोला निवासी अनवर खान की पत्नी सहनूर खान (22) को प्रसव पीड़ा के बाद पांच दिसंबर को इंदिरा नगर बीएमसी में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों ने जांच रिपोर्ट देखी। हीमोग्लोबिन की जांच कराई। जांच में 10 ग्राम हीमोग्लोबिन मिला। इसके बाद डॉक्टरों ने ऑपरेशन से प्रसव की जरूरत बताई। पति अनवर ने ऑपरेशन की हामी भर दी। आधे घंटे बाद ऑपरेशन से प्रसव कराया गया। पति का आरोप है कि ऑपरेशन के बाद लगाए गए टांकों से खून का रिसाव होने लगा। इसकी शिकायत डॉक्टर से की। डॉक्टर ने मरीज को नहीं देखा। खून का रिसाव बढ़ता जा रहा है। इस दौरान मरीज बेहोश हो गई। परिवारीजनों ने हंगामा शुरू कर दिया। इसके बाद डॉक्टर प्रसूता को देखने आई। मरीज की हालत गंभीर बताते हुए क्वीनमेरी रेफर कर दिया। पति अनवर ने बताया कि क्वीनमेरी में वेंटिलेटर खाली नहीं थे। मरीज को ट्रॉमा सेंटर ले जाने की सलाह दी गई। डॉक्टरों ने तीसरे तल पर क्रिटिकल केयर यूनिट (सीसीयू) के वेंटिलेटर पर रखा है। पति का कहना है कि शाम तक आठ यूनिट खून चढ़ाया जा चुका है। इसके बावजूद मरीज की सेहत में सुधार नहीं हो रहा है। पति ने सीएमओ से महिला डॉक्टर की लिखित शिकायत की बात कही है। सीएमओ डॉ. जीएस बाजपेई ने बताया कि मामले की लिखित शिकायत नहीं मिली है। शिकायत मिलने पर जांच कराई जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:news
संजय लीला भंसाली का पुतला फूंकाबिजली की नई दर कल से होगी लागू