class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहरी दरों पर बिल वसूलने से नाराज किसानों ने किया प्रदर्शन

मध्यांचल निगम ने नौ उपकेंद्रों को शहरी फीडर घोषित किया है

लखनऊ। कार्यालय संवाददाता

ग्रामीण इलाकों में शहरी फीडर की दरों पर बिल वसूलने से नाराज किसानों ने गुरुवार को माल उपकेंद्र पर प्रदर्शन किया। नाराज किसानों ने कहा कि यदि मध्यांचल निगम ने निर्णय वापस नहीं लिया तो जल्द लेसा मुख्यालय पर प्रदर्शन किया जाएगा।

भारतीय किसान यूनियन लोकतांत्रिक के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह चौहान ने कहा कि मध्यांचल निगम गुपचुप तौर पर तो इन नौ उपकेंद्रों के ग्रामीण उपभोक्ताओं से लंबे समय से शहरी दर पर बिल वसूल रहा है लेकिन लिखित तौर पर ऐसा आदेश पहली बार जारी किया गया है। उन्होंने कहा कि आपूर्ति के नाम पर शहरी दर से बिल वसूले जाने पर ग्रामीण उपभोक्ताओं को खासे नुकसान का सामना करना पड़ेगा, क्योंकि एक हफ्ता पहले बेतहाशा वृद्धि किये जाने के बाद भी ग्रामीण शेड्यूल की दरें शहरी टैरिफ के मुकाबले कम है।

गौरतलब है कि मध्यांचल निगम के एमडी एपी सिंह ने हाल ही में कार्यालय ज्ञापन में लखनऊ के ग्रामीण शेड्यूल वाले माल, मलिहाबाद, मलिहाबाद तहसील, निगोंहा, मोहनलालगंज, मोहनलालगंज तहसील, समेसी, रहीमाबाद व गोसाईगंज सहित 09 विद्युत उपकेंद्रों से अधिक विद्युत आपूर्ति किये जाने का हवाला देते हुये इन उपकेंद्रों को चार जनवरी 2004 से शहरी फीडर की श्रेणी में लाने का निर्देश दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:news
विकास नगर में नकदी समेत लाखों की चोरीबच्चों को जूते मोज़े मुहैया कराने के मामले हाईकोर्ट सख्त