DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैफियत एक्सप्रेस में लगेंगे उच्च तकनीक से लैस नए डिब्बे, नहीं लगेंगे झटके

आजमगढ़ और दिल्ली के मध्य चलने वाली कैफियत एक्सप्रेस का कायाकल्प होने वाला है। रेल मंत्रालय ने आजमगढ़ से दिल्ली जाने वाली अप 12225 कैफियत एक्सप्रेस और दिल्ली से आजमगढ़ जाने वाली डाउन 12226 कैफियत एक्सप्रेस में उच्च तकनीक से लैस नए डिब्बे लगाने का निर्णय लिया है। इससे आगामी दिनों में कैफियत एक्सप्रेस की यात्रा और भी सुखद हो जाएगी।
रेलवे के उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार आजमगढ़ से दिल्ली की मध्य चलने वाली कैफियत एक्सप्रेस के परंपरागत कोचों के स्थान पर अत्याधुनिक तकनीक से लैस एलएचबी कोच लगाए जाएंगे। साथ ही कैफियत में साधारण द्वितीय श्रेणी के दो, शयनयान श्रेणी के 11, वातानुकूलित तृतीय श्रेणी के दो, वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी के भी दो, वातानुकूलित प्रथम श्रेणी के एक, पावर कार के दो कोच सहित कुल 22 कोच लगेंगे। इससे यात्रियों को और अधिक बर्थ भी उपलब्ध होने लगेगी। शयन श्रेणी में 80, वातानुकूलित तृतीय श्रेणी में 72, वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी में 52, वातानुकूलित प्रथम श्रेणी में 24 बर्थ उपलब्ध होने लगेंगे। इसके अतिरिक्त साधारण श्रेणी के कोच में भी अब 100 यात्रियों के बैठने की व्यवस्था हो जाएगी। कैफियत ट्रेन में विशेष लग्जरी कोच लग जाने से यात्रा करने वालों को पहले से अधिक आराम मिलेगा।
नहीं लगेंगे झटके
आगामी दिनों में कैफियत एक्सप्रेस की यात्रा पहले से और अधिक सुखद और आरामदायक होने लगेगी। कैफियत एक्सप्रेस के लिए प्रस्तावित कोचों की विशेषता होगी कि यात्रा के दौरान झटके महसूस तक नहीं होंगे। इसका कारण कोच में लगने वाला स्पीड एयर सस्पेंशन होगा। 
नहीं होगी गन्दगी
लग्जरी कोच स्वच्छ भारत मिशन में सहायक होता है। कारण ऐसे कोचों में बायो टॉयलेट भी लगा होता है। इससे रेलवे ट्रैक और प्लेटफार्म पर गन्दगी भी नहीं होती है। इससे कैफियत एक्सप्रेस से रेलवे लाइन और स्टेशनों पर गन्दगी भी नहीं होगी।
अधिक कोच पर इंजन पर लोड पड़ेगा कम
कैफियत में लगने वाले कोचों की संख्या तो अधिक होगा फिर भी रेल इंजन पर लोड कम होगा। इसका कारण विशेष कोच की खास विशेषता है। कोच में लग्जरी फीचर्स होते हैं। इससे बैठने की अधिक जगह होती है लेकिन वजन कम होता है। परम्परागत कोचों के सापेक्ष लग्जरी कोच का वजन कम होने से रेल इंजन पर कम भार पड़ता है।

‘कैफियत एक्सप्रेस के कोच की बदलने की जानकारी नहीं है। रेलवे से और कंट्रोल रूम से अकबरपुर रेलवे प्रशासन को कोई जानकारी नहीं दी गई है। ऐसा होगा तो ट्रेन के संचालन वाले स्थानों यानि आजमगढ़ और दिल्ली स्टेशन प्रशासन को जानकारी होगी। अगर ऐसा होता है तो यात्रा सुखद तो होगी ही सीटों की संख्या बढ़ने से यात्रियों को भी राहत भी मिलेगी।'
जियालाल यादव, अधीक्षक रेलवे स्टेशन अकबरपुर
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:New coaches equipped with hi-tech at Kafeiyat Express