DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माहे रमजान की इबादत में मददगार हो रहे नए एप्स

रमजान इबादतों का महीना है। लोग पूरी शिद्दत से इबादत करते हैं। नमाज से लेकर दुआ तक और सहरी से लेकर इफ्तार तक हर एक का वक्त निर्धारित होता है। तय वक्त में तय इबादत करना लोगों की प्राथमिकता होती है। इसे ध्यान में रख इस बार कई विशेष मोबाइल एप लांच किये गए हैं, जो तय समय में इबादतों को अंजाम देने में मददगार हो रहे हैं। 
इन एप्स में कुरान की तिलावत (पाठ) से लेकर सहरी और नमाज की टाइमिंग तक दी गई है। साथ ही दुआ के लिए स्पेशल एप भी हैं। इन्हें गूगल प्ले स्टोर से नि:शुल्क डाउन लोड कर सकते हैं। 
गूगल प्ले स्टोर पर एक एनडायड एप 'चिसगचह गेच' नाम से है। इस एप में सहरी और इफ्तार की टाइमिंग से लेकर नमाज की टाइमिंग शहरों के हिसाब से है। इसके अलावा कुरान की आयतें और तर्जुमा   (अनुवाद) भी पढ़ सकते हैं। हिस्नुल मुस्लिम किताब की दुआएं भी इस एप में हैं। काबा शरीफ का लोकेटर भी जो दिशा सूचक की तरह काम करता है।

 इस्लामिक तारीखों का कैलेंडर भी
 इस्लामिक तारीखों का कैलेंडर भी इस एप का अहम फीचर है। एप में दुआओं का खजाना और रमजान में पढ़ी जाने वाली दुआ भी है। इसमें सारी जरूरी दुआएं एक साथ हैं। गूगल प्ले स्टोर पर 'चिसगचह गेच' नाम से डाउन लोड किया जा सकता है। इनमें सहरी और रोजे की नीयत की दुआ, तरावीह की दुआ समेत अन्य दुआएं अरबी व उर्दू में हैं।
  
इफ्तारी बनाने में भी ले सकते हैं मदद 
इफ्तारी की रेसेपी भी इबादत के साथ लजीज इफ्तारी बनाने के लिए भी ऐप की मदद ले सकते हैं। चिसगचह 017 एप पर कई खाड़ी देशों के लजीज खानों का तरीका पता कर सकते हैं। मेन्यू में हर डिश बनाने का तरीका स्टेप बाई स्टेप मौजूद है। शरबत बनाने की रेसेपी भी इसमें मिल जाएगी।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:New Apps to be Helpful in worship