class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने के लिए भटक रहे ग्रामीण

ग्रामीण मृत्यु प्रमाणपत्र बनवाने के लिए पंचायत भवन से ब्लॉक मुख्यालय तक चक्कर लगा रहे हैं। ग्राम पंचायतों में तैनात ग्राम विकास अधिकारियों के न आने से इन लोगों को रोजाना बैरंग वापस लौटना पड़ रहा है।

क्षेत्र के अचलीखेड़ा गांव निवासी नीरज बीते कई माह से पिता की मृत्यु का प्रमाण पत्र बनवाने के लिए ब्लॉक मुख्यालय के चक्कर लगा रहे हैं। उनका आरोप है कि पांच माह पहले उनके पिता राम किशोर की मौत हो गई थी। मृत्यु प्रमाणपत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन किया। सचिव के हस्ताक्षर भी हो गए लेकिन वीडीओ नहीं मिल रहे हैं। सिर्फ नीरज ही नहीं बलसिंहखेड़ा, करोरवा,कमालपुर बिचलिका, छतौनी सहित कई गांवों के ग्रामीणों की यही शिकायत है। उधर भोराखुर्द निवासी राममिलन पिता की मृत्यु प्रमाण पत्र के लिये दर-दर भटक रहे हैं। राममिलन का कहना है कि प्रमाण पत्र बिना सचिव की रिपोर्ट के जारी नही हो पा रहा है। गांव मे तैनात सचिव काफी समय से नहीं आ रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:nagram
24 निजी स्कूलों को केन्द्र सूची से किया गया है बाहरतीन तलाक पर सख्त कानून के लिए महिलाओं का प्रदर्शन