DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिना संसाधन सफाई में जुटा नगर निगम

हत्थू ठेला व रिक्शा ट्राली न होने से कूड़ा उठाने में हो रहा विलम्बलखनऊ। प्रमुख संवाददाताइंजीनियरिंग कालेज से जानकीपुरम के पास गुड़ियन का पुरिया की दूरी लगभग 3.5 किलोमीटर। इतनी दूरी में लगभग 15 हत्थू ठेला या रिक्शा ठेला की जरूतर है। लेकिन सिर्फ दो हत्थू ठेला से काम चल रहा है। इसमें भी एक ठेला मड़ियाव में हर दिन लगने वाली सब्जी मण्डी का कूड़ा उठाने में लगा है। यह स्थिति लगभग पूरे शहर की है। शहर में जमा हो रहे कूड़े के ढेर में संसाधनों का अभाव सबसे बड़ा कारण बना हुआ है। सफाई कर्मचारी झाड़ू तो लगा रहे हैं लेकिन तत्काल कूड़ा उठाने के बजाए घंटों हत्थू ठेला या रिक्शा ठेला का इंतजार कर रहे हैं। कई स्थानों पर रोबोट लगाया गया है। उसके पहुंचने में घंटों लग रहा है। ऐसे में जो काम दस मिनट में लगना चाहिए उसमें दो से तीन घंटे लग रहे हैं। मौजूदा समय में नगर निगम में सफाई कर्मचारियों की संख्या नौ हजार से ज्यादा हो चुकी है। इसमें तीन हजार के आसपास नियमित व संविदा के हैं। बाकी कार्यदायी संस्था के हैं। लेकिन हत्थू ठेला या रिक्शा ठेला की संख्या महज आठ सौ के आसपास है। दस कर्मचारी पर एक ठेला की व्यवस्था है जबकि हर दो कर्मचारी पर एक ठेला होना चाहिए। सफाई कर्मचारियों की संख्या बढ़ाने पर ज्यादा जोरनगर निगम में सबसे ज्यादा जोर सफाई कर्मचारियों की संख्या बढ़ाने पर है। कार्यदायी संस्था के माध्यम से पिछले एक साल में लगभग चार हजार कर्मचारी बढ़ गए लेकिन संसाधनों की संख्या कम होती गई। कर्मचारी काम कैसे करेंगे इसपर किसी का ध्यान नहीं गया। दरअसल कर्मचारियों की संख्या बढ़ाने में नगर निगम के अधिकारी से लेकर पार्षद तक को मोटी कमाई हो रही है। जितने कर्मचारी स्वीकृत है उतने फील्ड पर मिल नहीं रहे हैं। हाजिरी पूरे की लग रही है। भुगतान भी पूरे कर्मचारियों को हो रहा है। अब हाईकोर्ट की सख्ती हुई तो हाथ पैर फूलने लगे हैं। स्वीकृत कर्मचारियों की संख्या पूरी नहीं हो पा रही है। पिछले एक माह में लगभग 15 सौ कर्मचारी ऐसे छांटे जा चुके हैं जिनका सिर्फ नाम चल रहा था। संसाधनों की कमी है। कार्यदायी संस्था के कर्मचारियों के लिए संसाधन उन्हीं को बढ़ाना है। इसके लिए निर्देश दिया जा चुका है। नगर निगम अपने कर्मचारियों के लिए संसाधन की व्यवस्था शीघ्र करेगा।पंकज भूषण, नगर स्वास्थ्य अधिकारी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:nagar nigam