DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुलायम पूरी तरह अखिलेश के साथ, बोले-सपा को जिताओ

मुलायम सिंह यादव अब पूरी तरह सपा को चुनावी जंग में जिताने में जुट गए हैं। उन्होंने पार्टी अध्यक्ष व अपने बेटे अखिलेश यादव के साथ मिल कर पार्टी कार्यकर्ताओं को चुनाव के लिए तैयार रहने और सपा को जिताने का आह्वान किया। साथ ही बोले-भाजपा से सावधान रहने की जरूरत है।
सपा कार्यालय में सोमवार को मुलायम सिंह यादव व अखिलेश यादव कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर मुलायम सिंह यादव ने कहा कि कार्यकर्ता भाजपा की मुद्दा भटकाने वाली रीति-नीति से सावधान रहें और समाजवादी विचारधारा का अनुसरण करते हुए आगामी लोकसभा चुनाव में मतदान के मौके पर समाजवादी पार्टी की मजबूती से जीत सुनिश्चित करें। मुलायम सिंह यादव हाल के दिनों तक शिवपाल की सेक्युलर पार्टी के कार्यक्रम में भी दिखाई देते रहे हैं। यही नहीं शिवपाल सिंह यादव ने भी उन्हें सेक्युलर पार्टी के बैनर पर चुनाव लड़ने की पेशकश कर दी थी।
पूर्व रक्षामंत्री  मुलायम सिंह यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी और अन्य पार्टियों में अंतर है समाजवादी पार्टी अपने वादे निभाते हैं। समाजवादी सरकार में मुफ्त दवाई, पढ़ाई, सिंचाई की व्यवस्था थी। किसानों को सुविधाएं थी। नौजवानों को रोजगार मिला। भाजपा सरकार ने जनता को धोखा दिया है। हर व्यक्ति के खाते में 15 लाख रुपये जमा करने का वादा किया पर एक पैसा नहीं आया। अच्छा होता 5-5 लाख या 3-3 लाख की किश्तों में ही अदा कर देते। भाजपा ने एक भी जनहित का काम नहीं किया है। समाजवादी सरकार की उपलब्धियों को लेकर चुनाव में जाने पर जीत अवश्य मिलेगी।
फैसले के वक्त जनता दूसरे मुद्दों में उलझ जाती है : अखिलेश 
अखिलेश यादव ने कहा कि पूरा देश जान गया है कि भाजपा ने लोगों को ठगा है। जिनसे मुकाबला है उनमें असली मुद्दों से ध्यान बंटाने की ताकत है। इसलिए हमें सावधान रहना है। उन्होंने कहा फैसले की घड़ी में जनता दूसरी बातों में भी फंस जाती है, हमें उससे भी सचेत रखना है। 
श्री यादव ने कहा कि लोकसभा के आगामी चुनाव में जीत के लिए वोट बढ़ाना और बूथ स्तर पर संगठन की मजबूती जरूरी है। ईवीएम पर भी शक है। हम बैलट पेपर से चुनाव की मांग कर रहे हैं। अखिलेश यादव ने कहा कि लोकसभा चुनावों को पूरी गंभीरता से लेना है। कहीं कोई कमी नहीं रहे। इन चुनावों के मौके पर जनता भाजपा से हिसाब किताब करने के लिए तैयार बैठी है। 
इस अवसर पर हिन्दी संस्थान के पूर्व अध्यक्ष  उदय प्रताप सिंह, प्रदेश अध्यक्ष  नरेश उत्तम पटेल, तेलंगाना के प्रदेश अध्यक्ष प्रो0 एस. सिमहाद्री, झारखण्ड के प्रदेश अध्यक्ष केश्वर यादव उर्फ रंजन यादव एवं छत्तीसगढ के प्रदेश अध्यक्ष  तनवीर अहमद भी मौजूद रहे। 
                                                                                                    
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mulayam completely with Akhilesh Yadav