DA Image
8 अप्रैल, 2020|7:16|IST

अगली स्टोरी

मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना : अमेठी के 12 ब्लाकों में अब तक नहीं बन सका एक भी आवास

सरकार सबको छत देने का दावा कर रही है। लेकिन जिले में उस दावे की हवा निकल गई है। वित्तीय वर्ष शुरू हुए आठ माह का समय बीत चुका है। जबकि जिले में अब तक सिर्फ नौ आवास बने हैं। ये सभी आवास एक ब्लाक के हैं, 12 ब्लाकों में अभी एक भी आवास नहीं पूर्ण हो सका है। आवासीय योजनाओं का जिले में बुरा हाल है।

 मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत गरीब ग्रामीणों को आवास देने का प्रावधान है। चालू वित्तीय वर्ष में शासन की ओर से जिले को 664 आवासों का लक्ष्य दिया गया था। इनमें से 552 आवासों की संस्तुति की गई। आनलाइन वेरीफिकेशन के आधार पर 490 आवास वेरीफाई हुए। लेकिन इनके निर्माण की हालत बेहद खराब है। आंकड़ों की माने तो जिले में 456 आवासों की पहली किश्त, 23 लाभार्थियों को दूसरी किस्त जबकि 18 लाभार्थियों को तीसरी किश्त भेजी गई है। अब तक तिलोई विकास खंड में नौ आवास पूर्ण हुए हैं। बाकी जिले के किसी विकास खंड में एक भी आवास योजना के तहत पूर्ण नहीं हो सका है।

चार ब्लाकों की हालत खराब
चार ब्लाकों की स्थिति पहली किश्त ही जारी करने में खराब है। सबसे बुरा हाल भादर ब्लाक का है। जबकि सिंहपुर के अलावा किसी अन्य ब्लाक में किसी लाभार्थी को दूसरी किस्त हीं नहीं मिली है। जामों, संग्रामपुर व बहादुरपुर में अब तक 50 फीसद लाभार्थियों को भी पहली किश्त नहीं जारी हो सकी है।

क्या है समस्या

जिम्मेदारों की माने तो खराब नेटवर्किंग के चलते डाटा फीडिंग नहीं हो पा रही है। वहीं पर्याप्त बीडीओ के न होने से भी दिक्कत है। इसके साथ ही ग्राम विकास अधिकारियों की हड़ताल भी लक्ष्य पूरा करने में बाधक बनी।

फरमाते हैं जिम्मेदार

आवासीय योजनाओं में लापरवाही अक्षम्य है। सभी बीडीओ को हर हाल में तीस नवंबर तक हर लाभार्थी के खाते में प्रथम किश्त भेज दिए जाने के निर्देश दिए गए हैं।
प्रभुनाथ,सीडीओ,अमेठी

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Mukhyamantri Grameen Awas Yojana: Not a single house has been constructed in 12 blocks of Amethi