Mukhtar Ansari s son sued for buying five guns on one license - मुख्तार अंसारी के बेटे पर एक लाइसेंस पर पांच असलहे खरीदने का मुकदमा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुख्तार अंसारी के बेटे पर एक लाइसेंस पर पांच असलहे खरीदने का मुकदमा

default image

- एसटीएफ की जांच में उजागर हुआ था खेल, महानगर थाने में दर्ज हुआ मुकदमा - बिना स्थानीय थाने पर सूचना दिए दिल्ली स्थानांतरित करा लिया था शस्त्र लाइसेंस लखनऊ। वरिष्ठ संवाददाता बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी के खिलाफ एक लाइसेंस पर पांच शस्त्र खरीदने के मामले में शनिवार को महानगर कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया है। एसटीएफ की गोपनीय जांच में यह फर्जीवाड़ा उजागर हुआ था जिसके बाद अधिकारियों ने महानगर पुलिस को सत्यापन के आदेश दिए थे। इसमें पता चला कि अब्बास अंसारी ने बिना स्थानीय थाने पर सूचना दिए शस्त्र लाइसेंस दिल्ली स्थानांतरित करा लिया था। लिहाजा इंस्पेक्टर महानगर अशोक कुमार सिंह की तरफ से अब्बास अंसारी के खिलाफ धोखाधड़ी और शस्त्र अधिनियम के तहत रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। सीओ महानगर सोनम कुमार ने बताया कि मूलत: गाजीपुर जनपद के मोहम्मदाबाद स्थित यूसुफपुर दर्जी टोला निवासी अब्बास अंसारी निशातगंज की पेपरमिल कालोनी स्थित मेट्रो सिटी में रहता है। उसने मेट्रो सिटी के पते से वर्ष 2002 में डीबीबीएल का लाइसेंस बनवाया था। बाद में उसने अपना शस्त्र लाइसेंस नई दिल्ली के बसंत कुंज के किशनगंज के पते पर स्थानांतरित करा लिया। इस दौरान यूपी एसटीएफ ने आपराधिक छवि वाले लोगों को जारी शस्त्र लाइसेंस की जांच शुरू की तो मुख्तार अंसारी और उसके करीबी रिश्तेदारों के नाम 9 शस्त्र लाइसेंस होने का पता चला। इसमें से तीन शस्त्र लाइसेंस मुख्तार और उसके बेटे अब्बास के नाम पर थे। एसटीएफ की जांच में सामने आया कि अब्बास के नाम से जारी शस्त्र लाइसेंस को बगैर जिला प्रशासन की अनुमति के दिल्ली स्थानांतरित करा लिया गया। शस्त्र धारक अब्बास अंसारी ने स्थानीय थाने यानि कि महानगर पुलिस को इसकी कोई लिखित या मौखिक सूचना नहीं दी। नेशनल शूटर का हवाला देकर चार असलहे खरीदे शस्त्र लाइसेंस दिल्ली स्थानांतरित होने के बाद अब्बास ने एक और खेल किया। उसने अपने राष्ट्रीय स्तर का निशानेबाज होने का हवाला देकर उसी लाइसेंस पर चार और असलहे खरीद लिए। सीओ ने बताया कि एक ही शस्त्र दो प्रदेशों में अलग-अलग शस्त्र लाइसेंस व अलग-अलग यूआईडी पर एक साथ अंकित होना शस्त्र अधिनियम का उल्लंघन है। अब्बास ने एक ही लाइसेंस पर पांच असलहे खरीदे और लाइसेंस स्थानांतरित कराने की सूचना नहीं दी। लिहाजा अब्बास अंसारी को शस्त्र अधिनियम के साथ-साथ धोखाधड़ी का भी आरोपी बनाया गया है। लाइसेंस निरस्त कराने की तैयारी एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि अब्बास के शस्त्र लाइसेंस के सम्बंध में दिल्ली पुलिस के अधिकारियों से जानकारी मांगी गई है। इसी के साथ उसका शस्त्र लाइसेंस निरस्त करने की संस्तुति की जाएगी। हाल ही में गठित शस्त्र एवं कारतूस नियंत्रण प्रकोष्ठïको इसका जिम्मा सौंपा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mukhtar Ansari s son sued for buying five guns on one license