DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आदर्श वार्ड गीतापल्ली में मूलभूत सुविधाएं बदहाल

लखनऊ। निज संवाददाता

आदर्श वार्ड में शामिल गीतापल्ली में बुनियादी नागरिक सुविधाओं का टोंटा है। इलाके की ज्यादातर सड़कें जर्जर हालत में हैं। नालियां जगह-जगह से टूटी हैं। गढ्ढों में फंसकर लोग चोटिल हो रहे हैं। सफाई व्यवस्था का आलम यह है कि नालियां गंदगी व सिल्ट से बजबजा रही हैं। इलाके के एक नालों की सफाई हर साल कागजों पर हो जाती है। सही तरीके से सफाई न किए जाने से ज्यादातर इलाकों में जलभराव से गलियों व घरों में पानी घुस जाता है। लोग घरों में कैद होकर गंदगी के बीच रहने को मजबूर हो जाते हैं। पार्क अतिक्रमण व बदहाली का शिकार हैं। लोग पार्क को पार्किंग के रूप् में इस्तेमाल कर रहे हैं।

खाली प्लॉट बने पड़ावघर

इलाके में खाली पड़े प्लॉट कूड़ा पड़ावघर बन चुके हैं। इन प्लॉओं में टनों कूड़ा पटा पड़ा हुआ है। बारिश के मौसम में कूड़ा सड़ने की वजह से आसपास रहने वाले लोगों को जीना दुश्वार हो जाता है। वहीं सड़कों व पार्कों के आसपास कूड़ा कई-कई दिन तक जमा रहता है। सफाई कर्मी नियमित रूप से सफाई करने नहीं आते हैं।

आवारा पशुओं से रोजाना चोटिल हो रहे लोग

आवारा पशुओं के आतंक से लोग भयभीत रहते हैं। हर गली व चौराहे पर सांड़ों का कब्जा रहता है। महिलाओं व बच्चों को तो इन रास्तों से जाने में डर लगता है। एक हफ्ता पहले पकरी निवासी अंकित पांडेय दो सांड़ों की लड़ाई में फंसकर चोटिल हो गए। उनके पैर में गहरा जख्म हो गया। स्थानीय लोगों का आरोप है कि कई बार जोनल अधिकारी व पशु चिकित्साधिकारी को इससे अवगत कराया गया। लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।

हल्की सी बारिश में गलियों व घरों में भर जाता है पानी

हल्की सी बारिश में पूरा इलाका टापू में तब्दील हो जाता है। हर गली, मुख्य मार्ग व घरों के अंदर पानी भर जाता है। लोग घरों में कैद हो जाते हैं। लोगों का कहना है कि इलाके से गुजरने वाले की सफाई न किए जाने से जिन इलाकों में कभी भी जलभराव नहीं हुआ। उन इलाकों में जलभराव से लोग बेहाल हैं। बीते कई दिनों से हो रही बारिश से गोपालपुरी, कच्ची बस्ती, कृष्णापल्ली, गीतापल्ली, पकरी, आजादनगर, फौजी कॉलोनी में जलभराव होने से लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

कहने को तो गीतापल्ली आदर्श वार्ड में आता है। लेकिन यहां आदर्श की जगह समस्त नागरिक सुविधाएं बदतर हालत में हैं। विकास कार्य पूरी तरह से ठप पड़े हैं। ईकोग्रीन सही तरीके से काम ही नहीं कर रही है। जिस कारण जगह-जगह गंदगी व कूड़े के ढेर लगे रहते हैं। नालियां बजबजाती रहती हैं। वीआईपी रोड से हसनापुर नाले की सफाई के नाम पर ऊपर से पॉलीथीन निकाल दी गई। सिल्ट निकाली ही नहीं गई। जबकि आलमबाग के सभी वार्डों की जलनिकासी के एक मात्र साइफन की वर्षों से सफाई नहीं हुई है। इसकी वजह से आज तक जिन इलाकों में कभी जलभराव की समस्या नहीं हुई। वहां हल्की सी बारिश होने पर घरों के अंदर पानी घुस रहा है। जोनल अधिकारी व एक्सईएन कुछ सुनते ही नहीं हैं।

- अरविंद यादव, पार्षद, गीतापल्ली

बातचीत

मुंडावीर बाबा मंदिर पार्क कई सालों से बदहाली की हालत में हैं। आसपास रहने वाले लोग इसके अंदर कार व अन्य गाड़ियां खड़ी कर इसका इस्तेमाल पार्किंग के रूप में कर रहे हैं। पार्क को विकसित कर देने पर बच्चे इसमें खेल सकेंगे।

- अंकित पांडेय, पकरी

पेयजल संकट से यहां रहने वाले लोग बेहाल हैं। आए दिन सप्लाई ठप रहती हैं तो गंदे पानी की सप्लाई आम बात है। ट्यूबवेल पुराने हो चुके हैं। नए ट्यूबवेल लग नहीं रहे हैं। लोग बूंद-बूंद पानी को तरस रहे हैं।

- पूनम मिश्रा

साफ-सफाई का बुरा हाल है। सफाई कर्मचारी नियमित रूप से सफाई करने नहीं आते हैं। कई-कई दिनों तक कूड़ा सड़कों पर पड़ा रहता है। आवारा जानवर कूड़ा पूरी सड़क पर फैला देते हैं।

- ज्ञान सिंह, आजादनगर

सड़कें बहुत ही खराब व जर्जर हालत में हैं। गहरे गढ्ढों में गिरकर लोग आए दिन चोटिल होते रहते हैं। कई सालों से सड़कों की मरम्मत हुई है न तो नई सड़कें बनी हैं।

- राजीव आजाद नगर संजय गांधी मार्ग

जलभराव व गंदगी की वजह से मच्छरों का आतंक हैं। सफाई न होने से डेंगू, मलेरिया जैसे रोग फैलने का अंदेशा है। नगर निगम प्रशासन पूरी तरह से फेल साबित हो चुका है।

- धीरेंद्र पांडेय,पकरी

- अनूप तिवारी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:mohalla live